देश

सरस्वती के किये 20 टुकड़े…कुकर में उबालकर कुत्तों को खिलाया…पड़ोसियों को हुआ शक तो पुलिस को बुलाया


(शशि कोन्हेर) : सरस्वती वैद्य मर्डर केस ने मुंबई समेत देश भर में सनसनी फैला दी है। 56 साल के लिव इन पार्टनर मनोज साहनी ने जिस तरह 32 साल की सरस्वती को मौत के घाट उतारा और उसके शव के साथ जो वीभत्सता की, उससे हर कोई हैरान है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि मनोज साहनी ने गला रेत कर सरस्वती की हत्या कर दी थी और फिर आरे से उसके टुकड़े-टुकड़े कर डाले। यही नहीं इन टुकड़ों को वह कुकर में उबालकर कुत्तों को खिला रहा था। पुलिस ने बताया कि उसे बुधवार शाम को फ्लैट से बदबू आने की शिकायत पड़ोसियों ने की थी। इस पर वह मौके पर गई तो फ्लैट का गेट खुलवाया।

Advertisement

आरोपी मनोज साहनी ने दरवाजा खोला तो भागने लगा। पुलिस ने उसे दबोच लिया और फिर अंदर देखा तो शव मिला। पुलिस का कहना है कि शायद यह मर्डर 4 जून को ही हो गया था और उसके बाद मनोज शव को ठिकाने लगाने की कोशिशें कर रहा था। आरोपी ने बताया कि वह शव के टुकड़ों कुकर में उबालता था और उन्हें कुत्तों को खिला देता था। पड़ोसियों ने कहा कि उन्होंने देखा था कि आरोपी मनोज साहनी बीते कुछ दिनों से कुत्तों को कुछ खिला रहा था। इसी बात से शक गहरा रहा बै कि वह टुकड़ों को कुत्तों को खिलाकर ठिकाने लगाने में जुटा था। कमरे के अंदर से सरस्वती के शरीर का निचला हिस्सा ही पाया गया है।

Advertisement



नयानगर पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाली मीरा रोड की गीता नगर कॉलोनी में इस कांड के बाद से दहशत का माहौल है। हर किसी की नजर उस इमारत की ओर देख रही है, जहां यह कांड हुआ है। कहा जा रहा है कि अब तक आरोपी की निशानदेही पर पुलिस सरस्वती के शव के 13 टुकड़े बरामद कर चुकी है। मनोज ने सरस्वती के शव के कुल 20 टुकड़े किए थे। दोनों ही गीता नगर में तीन साल से रह रहे थे और किसी से ज्यादा घुले-मिले नहीं थे। हालांकि इससे पहले उनके बीच कभी लड़ाई-झगड़े की बात भी किसी ने नहीं सुनी थी।

Advertisement

स्थानीय लोगों ने कहा कि आरोपी मनोज कभी कुत्तों को कुछ खिलाता नहीं था। पिछले दो-तीन दिनों से वह कुत्तों को कुछ खिलाता दिखता था। दिन में कई बार ऐसा होता था कि वह कुत्तों को कुछ खिलाता था। इसी के चलते यह संदेह है कि उसने शायद कुत्तों को सरस्वती के शव के टुकड़े खिला दिए। यही नहीं बदबू ना आए और कुत्ते आसानी से खा लें, इसके लिए वह शव के टुकड़ों को कुकर में उबालता भी था। रोंगटे खड़े कर देने वाली इस वीभत्स घटना को अंजाम देने के बाद भी मनोज साहनी को कोई मलाल नहीं है। इस कांड ने दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस की याद दिला दी है, जिसके लिव इन पार्टनर आफताब ने 32 टुकड़े कर डाले थे और जंगल में फेंका करता था।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button