देश

संसद में ठाकुर पर मनोज झा की कविता से RJD में बवाल….आनंद मोहन के बेटे चेतन ने कहा- ये दोगपालपन है

Advertisement

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : आरजेडी सांसद मनोज झा के राज्यसभा में ठाकुर पर ओमप्रकाश वाल्मीकि की कविता सुनाने पर अब आरजेडी में बवाल मच गया है। आनंद मोहन के विधायक बेटे चेतन आनंद ने पहले फेसबुक पोस्ट लिखकर और अभी सुबह-सुबह फेसबुक लाइव पर आकर मनोज झा द्वारा राजपूत समाज के अपमान को समाजवाद के नाम पर दोगलापन करार दिया है। चेतन आनंद ने मंगलवार को फेसबुक पर एक पोस्ट लिखकर कहा था कि ठाकुर समाज इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। चेतन के पोस्ट के बाद रात में राष्ट्रीय जनता दल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से मनोज झा के उस भाषण का वीडियो जोरदार, दमदार और शानदार लिखकर पोस्ट कर दिया गया। इसके बाद बुधवार की सुबह चेतन ने फेसबुक लाइव पर आकर कहा कि तेजस्वी यादव के समाजवाद का फॉर्मूला ए टू जेड को साथ लेकर चलने का है जिसे कुछ नेता कमजोर कर रहे हैं।

Advertisement

राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा के मुद्दे पर आरजेडी सांसद मनोज झा ने भाषण दिया। इसमें उन्होंने ओमप्रकाश वाल्मीकि की ठाकुरों पर लिखी गई प्रसिद्ध कविता पढ़ी। हालांकि, उन्होंने पहले ही स्पष्ट कर दिया कि यह कविता किसी जाति विशेष के लिए नहीं है। बल्कि व्यवस्था के खिलाफ है। हम सभी के अंदर एक ठाकुर है, उसे मारना है।

मनोज झा का समाजवाद के नाम पर दोगलापन : चेतन आनंद
सांसद मनोज झा के इस भाषण पर अब आरजेडी के अंदर बवाल मच गया है। पूर्व सांसद आनंद मोहन के बेटे एवं आरजेडी विधायक चेतन आनंद ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर मनोज झा पर करारा हमला बोला। उन्होंने कहा कि हम ठाकुर हैं, सबको साथ लेकर चलते हैं। इतिहास में सबसे अधिक बलिदान हमारा है। समाजवाद में किसी एक जाती को टार्गेट करना समाजवाद के नाम पर दोगलापन के अलावा कुछ नहीं है। जब हम दूसरों के बारे में गलत नहीं सुन सकते तो अपने (ठाकुरों) पर अभद्र टिप्पणी बिल्कुल नहीं बर्दाश्त करेंगे।


इसके बाद चेतन आनंद बुधवार सुबह फेसबुक पर लाइव आए और फिर से उन्होंने अपनी ही पार्टी के सांसद पर निशाना साधा। चेतन ने साढ़े दस मिनट के लाइव पोस्ट में कहा कि मनोज झा खुद को समाजवाद के सिपाही समझते हैं। पहले वे खुद बोलते हैं कि वे जात-पात पर नहीं जा रहे हैं, फिर पूरा वे ठाकुरों पर भड़क गए। ठाकुर एक जाति है। सभी जानते हैं। उन्हें ठाकुरों से क्या एलर्जी है?

चेतन आनंद ने कहा कि तेजस्वी यादव ने ए टू जेड फॉर्मूले पर पार्टी चलाने का वादा किया था। मगर आरजेडी में कुछ लोग दोगलापन पर उतर आए हैं। समाजवाद सब को साथ लेकर चलता है। जो चीज हमें पसंद नहीं आएगी उसके खिलाफ बोलेंगे, चूड़ी पहनकर बैठने वालों में से नहीं है। ठाकुरों पर आकर कविता बोलकर चले जाएं, यह बर्दाश्त नहीं होगा। अगर जरूरत पड़ी तो पार्टी फोरम में भी सांसद मनोज झा के खिलाफ बात रखी जाएगी।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button