देश

अब गोवा कांग्रेस में मचा बवाल, अनेक विधायक भाजपा के संपर्क में

(शशि कोन्हेर) : महाराष्ट्र की हालिया राजनीतिक उठापटक के बाद अब गोवा में इसी तरह के हालात की सुगबुगाहट सुनाई दे रही है। रविवार को दिन भर कांग्रेस विधायकों के एक बड़े गुट के टूट कर भाजपा में शामिल होने की चर्चाएं सुनाई देती रहीं।

Advertisement

विधायकों के दलबदल करने की सुगबुगाहट के बीच दिनेश गुंडू राव गोवा पहुंचे और विधायकों के साथ बैठक की। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने रविवार रात को प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि गोवा के नेता प्रतिपक्ष के पद से माइकल लोबो को हटा दिया गया है।

Advertisement

माइकल लोबो और दिगंबर कामत ने बगावत की

Advertisement

कांग्रेस के गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने आरोप लगाया कि भाजपा विपक्ष को खत्म कर देना चाहती है। हमारे ही कुछ नेताओं ने भाजपा के साथ यह साजि‍श रची थी कि गोवा में कांग्रेस पार्टी कमजोर हो गई है और दलबदल कर दिया गया है। इस साजिश का नेतृत्व हमारे ही दो नेताओं माइकल लोबो और दिगंबर कामत ने किया।

दलबदल के खिलाफ कार्रवाई होगी


AICC गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने कहा क‍ि दिगंबर कामत और माइकल लोबो भाजपा के साथ मिलकर काम कर रहे थे। दिगंबर कामत ने अपनी की रक्षा के लिए ऐसा किया क्योंकि उनके खिलाफ कई मामले थे। उन्‍होंने बताया कि अब नए नेता का चुनाव होगा। दलबदल के खिलाफ कानून सम्‍मत जो भी कार्रवाई होगी की जाएगी। देखते हैं कितने लोग वहां जा रहे हैं। हमारे पांच विधायक यहां हैं।

कितनी बड़ी है यह फूट

कांग्रेस के कम से कम सात असंतुष्ट विधायकों के एक होटल में मुलाकात कर रणनीति बनाने की बात सामने आई है। इस बीच गोवा विधानसभा के स्पीकर ने मंगलवार को होने जा रहे डिप्टी स्पीकर का चुनाव स्थगित कर दिया है। चालीस सदस्यीय गोवा विधानसभा में फिलहाल कांग्रेस के 11 विधायक हैं। इनमें से करीब आठ के सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल होने की अफवाह उड़ रही है।

Advertisement

असंतुष्ट विधायक हुए एकजुट
कांग्रेस विधायक अलेक्सियो सिक्वेरा ने बताया कि कांग्रेस के कुछ असंतुष्ट विधायकों ने हाल ही में मारगाव के एक होटल में बैठक की है। मुझे इस बैठक में हाई कमांड द्वारा नहीं बुलाया गया। इस बैठक में कौन-कौन शामिल इस बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता।

Advertisement

डिप्टी स्पीकर के चुनाव की अधिसूचना रद

इस बीच गोवा विधानसभा के स्पीकर रमेश तावडकर ने डिप्टी स्पीकर के चुनाव के चुनाव के लिए जारी अधिसूचना रद कर दी है। इस अधिसूचना को वापस लेने का आदेश रविवार सुबह जारी हुआ जबकि यह चुनाव 12 जुलाई को होना था। विधानसभा की सचिव नम्रता उलमन ने बताया कि डिप्टी स्पीकर के चुनाव की अधिसूचना नियम 308 के तहत आठ जुलाई को जारी हुई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button