देश

अब हज यात्रा में नो वीआईपी कोटा.. जल्द घोषित होगा केंद्र सरकार का फैसला,

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : केंद्र सरकार ने हज यात्रा को लेकर बड़ा फैसला लिया है. हज के लिए सरकार की ओर से दिया जाने वाला वीआईपी कोटा अब खत्म होने जा रहा है. पहले हज यात्रा को लेकर कुछ आरक्षित सीटें दी जाती थीं, जिन्हें कि अब खत्म किया जा रहा है. इस कदम के बाद हज जाने वाले सभी लोग आम यात्रियों की तरह ही यात्रा करेंगे. किसी भी यात्री को कोई खास वीआई कल्चर नहीं मिलेगा.

Advertisement

पहले राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री और हज समिति द्वारा आवंटित सीटों से करीब 500 लोग हज पर जा सकते थे. राष्ट्रपति कोटे से 100, उपाध्यक्ष कोटे से 75, पीएम कोटे से 75, अल्पसंख्यक कार्य मंत्री कोटे से 50, हज कमेटी ऑफ इंडिया को 200 सीटें मिलती थीं. लेकिन नई हज नीति के मसौदे में अब इसे खत्म किया जा रहा है.

Advertisement

अब सभी हज यात्री हज कमेटी और निजी टूर ऑपरेटर के जरिए ही यात्रा पर जा सकेंगे. हालांकि अभी तक इस नई हज नीकति को लेकर औपचारिक घोषणा नहीं हुई है. नई हज नीति को लेकर जल्द ही घोषणा होने वाली है.

हाल ही में हटा है संख्या का प्रतिबंध

हाल ही में सऊदी अरब ने तीन साल से हज करने वालों की संख्या पर लगे प्रतिबंध को हटाने का ऐलान किया था. सऊदी अरब के इस फैसले के बाद जितनी तादाद में कोरोना माहमारी से पहले जायरीन हज करते थे, अब वो उतनी ही संख्या में हज के लिए जा सकेंगे. इसके अलावा सरकार ने आयु सीमा के प्रतिबंध को भी हटाने का ऐलान किया था.

कोरोना की वजह से लगाई गई थीं पाबंधियां

बता दें कि कोरोना से पहले साल 2019 में लगभग 25 लाख लोग हज पर गए थे. लेकिन महामारी के कारण उसके बाद के दो सालों में जायरीनों की संख्या में भारी कमी देखने को मिली थी. सऊदी अरब के हज और उमराह मंत्री तौफीक अल राबियाह ने रियाद में संवाददाताओं से बात करते हुए कहा था कि सऊदी अरब इस साल हज यात्रियों की संख्या को सीमित नहीं करेगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि महामारी के पहले की तरह ही जायरीनों को बिना किसी उम्र सीमा के साथ हज करने की अनुमति होगी. इससे पहले जायरीनों की अधिकतम उम्र सीमा 65 वर्ष निर्धारित थी.

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button