देश

राहुल गांधी की तो कोई सुन ही नहीं रहा’, गौतम अडानी से शरद पवार की मुलाकात पर BJP का तंज

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को अहमदाबाद में गौतम अडानी से मुलाकात की। दोनों की यह भेंट देश के पहले लैक्टोफेरिन प्लाट के उद्घाटन के मौके पर हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, बाद में पवार ने अहमदाबाद में अडानी के आवास और कार्यालय का भी दौरा किया।

Advertisement

एनसीपी चीफ पवार ने एक्स पर पोस्ट किया, ‘गौतम अडानी के साथ गुजरात के वासना, चाचरवाड़ी में भारत के पहले लैक्टोफेरिन प्लांट एक्सिमपॉवर का उद्घाटन करना सौभाग्य की बात रही।’ यह मीटिंग ऐसे वक्त हुई जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी अडानी पर लगातार हमलावर हैं।

Advertisement

साथ विपक्षी गठबंधन ‘INDIA’ 2024 के चुनावों में भाजपा के खिलाफ एकजुट लड़ाई की तैयारी कर रहा है। शरद पवार इंडिया गुट के प्रमुख नेता हैं और वह मुंबई में गठबंधन की पिछली बैठक के मेजबान थे।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने शरद पवार और गौतम अडानी की मुलाकात को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा। पवार के हैंडल से पोस्ट की गईं कार्यक्रम की तस्वीरों को शेयर करते हुए बीजेपी नेता ने कांग्रेस पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि तस्वीर हजारों शब्द बोलती है, मगर तभी जब राहुल गांधी उन्हें सुनने के इच्छुक हों।

पूनावाला ने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि शरद पवार के साथ अलका लांबा जैसे लोग फिर से दुर्व्यवहार नहीं करेंगे। इंडिया गठबंधन में कोई भी राहुल गांधी या उनके बयानों को गंभीरता से नहीं लेता है। यह तस्वीर हजारों शब्द बोलती है, बशर्ते राहुल गांधी इन्हें सुनने को तैयार हों।’

पहले भी पवार की अडानी से नजदीकियां आईं सामने
गौरतलब है कि इससे पहले भी शरद पवार की अडानी से नजदीकियां सामने आ चुकी हैं। पवार ने अडानी ग्रुप के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति की विपक्ष की मांग का विरोध किया था। उन्होंने कहा कि वह इसके बजाय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी वाली समिति का समर्थन करेंगे।

इतना ही नहीं, शरद पवार ने अपनी आत्मकथा ‘लोक माझे सांगाति’ में गौतम अडानी को मेहनती, सरल और जमीन से जुड़ा व्यक्ति बताया है। बताते हैं कि शरद पवार के कहने पर ही गौतम अडानी ने थर्मल पावर सेक्टर में कदम रखा। पवार ने अपनी किताब में लिखा कि कैसे अडानी ने शून्य से शुरू करके अपना कॉर्पोरेट साम्राज्य बनाया है।

Advertisement

वहीं, राहुल गांधी ने जातिगत जनगणना की वकालत करते हुए कहा कि देश के प्रधानमंत्री जातिगत जनगणना से डरते क्यों हैं? उन्‍होंने कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) को भागीदारी देने का काम बिना जातिगत जनगणना के नहीं हो सकता। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री को जातिगत जनगणना के आंकड़े देश के सामने रखने चाहिए।

Advertisement

कांग्रेस नेता ने कहा कि महिला आरक्षण को आज ही लागू किया जा सकता है, लेकिन केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार परिसीमन व नयी जनगणना का बहाना बनाकर इसे टालना चाहती है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि महिला आरक्षण आज ही लागू हो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button