Uncategorized

हापुड़ लाठीचार्ज पर वकीलों में जबरदस्त आक्रोश, 48 घंटे का अल्टीमेटम

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : हापुड़ में वकीलों पर लाठीचार्ज का मामला तूल पकड़ चुका है। बुधवार को प्रदेश भर के वकील हड़ताल पर रहे और जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। लखनऊ-प्रयागराज और मेरठ समेत कई जिलों में पुलिस और वकीलों के बीच तीखी झड़प हुई। मुख्यमंत्री ने मामले की जांच के लिए मेरठ कमिश्नर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है।

Advertisement

यूपी बार काउंसिल के चेयरमैन 48 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए हापुड़ के डीएम, एसपी, सीओ को हटाने की मांग की है। शुक्रवार को भी हड़ताल पर रहने का ऐलान किया है। गुरुवार को अदालतें रक्षाबंधन पर पहले से बंद हैं। इस बीच हापुड़ में पुलिस ने नगर मंगलवार को हुए बवाल में 17 अधिवक्ताओं को नामजद करते हुए 250 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

Advertisement

हाईकोर्ट बेंच केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन कुंवरपाल शर्मा और संयोजक विनोद कुमार चौधरी ने बताया कि मेरठ समेत पश्चिम उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में 1 सितंबर तक वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। 2 सितंबर को बैठक कर आगे की रणनीति की घोषणा की जाएगी। उन्होंने कहा कि हापुड़ की घटना में कारवाई होने तक वकीलों का संघर्ष जारी रहेगा।

लखनऊ में एसीपी से मारपीट, देवरिया में थप्पड़ मारने का वीडियो वायरल
लखनऊ में वकीलों ने एसीपी और इंस्पेक्टर से मारपीट की जबकि प्रयागराज में पुलिसकर्मी को थप्पड़ जड़ दिया। अलीगढ़ में वकीलों ने अलीगढ़-मुरादाबाद हाइवे पर जाम लगा दिया।

देवरिया में वकीलों की भीड़ में शामिल व्यक्तियों द्वारा एक सिपाही को थप्पड़ मारने का वीडियो वायरल हुआ है। हिन्दुस्तान इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। मेरठ में वकील जुलूस निकाल कर आईजी ऑफिस पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। कचहरी में एसपी क्राइम की गाड़ी रोक कर बाहर कर दिया, एसीएम के गनर की पिटाई का भी आरोप लगा है।

सीएम ने गठित की एसआईटी
मामले की गंभीरता को दखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाते हुए कमिश्नर मेरठ सेल्वा जे. कुमारी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एसआईटी गठित कर दी है। एसआईटी में आईजी मेरठ नचिकेता झा और डीआईजी मुरादाबाद मुनिराज जी. को शामिल हैं। कमेटी को घटना के सभी पहलुओं की जांच कर एक हफ्ते के अंदर रिपोर्ट देने के आदेश दिए गए हैं।

हापुड़ में जुटे कई जिलों के वकील, आईजी ने डाला डेरा
बुधवार सुबह से सभी जिला मुख्यालयों पर वकील जुटने शुरू हो गए। हापुड़ में बुलंदशहर,गाजियाबाद समेत कई जिलों के वकील कचहरी परिसर में एकत्र हुए और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हापुड़ पहुंच गए। अधिवक्ताओं ने कचहरी के गेट से कैदियों की गाड़ी के साथ आए पुलिसकर्मियों को लौटा दिया।

Advertisement

गुस्साए वकीलों में कचहरी गेट पर ताला जड़ दिया और तहसील चौराहे पर पहुंच कर प्रदर्शन किया। उधर, तहसील चौराहे भारी फोर्स तैनात रही। हापुड़, मेरठ, बागपत, बुलंदशहर समेत कई जिलों अफसर भी मौजूद रहे। आईजी भी हापुड़ में ही डेरा डाले रहे।

Advertisement

यूपी बार कौंसिल ने दिया 48 घंटे का अल्टीमेटम
घटना पर रोष व्यक्त करते हुए यूपी बार काउंसिल ने कार्रवाई के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। कौंसिल के चेयरमैन अध्यक्ष शिव किशोर गौड ने दोषी पुलिसकर्मियों के साथ एसपी और डीएम और सीओ को हटाने की मांग की है। साथ ही वकीलों का मुकदमा भी दर्ज कर मुआवजा देने की बात कही है।

मंगलवार के बवाल में मुकदमा दर्ज, 17 वकील नामजद
हापुड़ पुलिस ने मंगलवार को हुए बवाल में 17 वकीलों को नामजद करते हुए 250 अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में हापुड़ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया है। एएसपी मुकेश मिश्र ने बताया कि पुलिस पर हमला और जाम लगाने को लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई है।

यह था मामला
शुक्रवार को एक महिला अधिवक्ता और सिपाही के बीच विवाद का एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें अधिवक्ता द्वारा सिपाही की नेम प्लेट नोचने की बात भी सामने आई थी। इसके बाद पुलिस ने महिला अधिवक्ता समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। वकील इसी मुकदमे का विरोध करने के लिए मंगलवार को हापुड़ में जाम लगा कर प्रदर्शन कर रहे थे। विवाद बढ़ने पर पुलिस ने लाठी भांजकर भीड़ को तितरवितर कर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button