देश

कोलकाता फिल्म महोत्सव बना राजनीति का अखाड़ा अमिताभ-शाहरूख बनें मोहरे

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : पहले गोवा इंटरनेशनल फिल्म समारोह और अब कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म समारोह में राजनीति की एंट्री हो गई है। मामला बॉलीवुड के शहंशाह और बादशाह का है। पहले शहंशाह अमिताभ बच्चन ने फ्रीडम ऑफ स्पीच को लेकर बयान दिया और उसके बाद बादशाह शाहरुख खान ने पठान के गाने के विवाद के बीच सोशल मीडिया पर निशाना साधा।

Advertisement

बॉलीवुड के इन दिग्गजों के बयान के बाद, भाजपा और तृणमूल कांग्रेस आमने-सामने हैं और वह दोनों इन नायकों के बहाने एक-दूसरे को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं।
अमिताभ बच्चन ने क्या कहा था।

Advertisement


बिग बी ने कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म समारोह में कहा कि आज भी नागरिकों की स्वतंत्रता और बोलने की आजादी पर सवाल उठाए जाते हैं। आम तौर पर राजनीतिक विवादों से दूर रहने वाले अभिनेता अमिताभ बच्चन ने नागरिक स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की आजादी जैसे राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील मुद्दों पर टिप्पणी की है। ऐसे में उनके इस टिप्पणी पर राजनीति होने की पूरी संभावना थी और वैसा ही हुआ।

भाजपा प्रवक्ता अमित मालवीय ने ट्वीट कर कहा कि अमिताभ बच्चन के शब्द इससे अधिक भविष्यसूचक नहीं हो सकते थे क्योंकि ये शब्द कोलकाता में मंच पर ममता बनर्जी के सामने बोले गए थे। यह उस तानाशाह को आईना दिखाने जैसा है, जिसकी निगरानी में भारत ने चुनाव के बाद की सबसे खूनी हिंसा देखी है।

भाजपा नेता के ममता बनर्जी को सीधे निशाने पर लेने का मतलब था कि तृणमूल कांग्रेस भी चुप नहीं बैठने वाली थी। और वही हुआ अमित मालवीय के ट्वीट के बाद तृणमूल कांग्रेस नेता और सांसद महुआ मोइत्रा ने सीधे अमित मालवीय पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि काश बीजेपी सिंगल डिजिट से ज्यादा IQ वाले ट्रोल इन चीफ को हायर करती।

बच्चन जी बंगाल के ‘जमाई’ हैं और वे जानते हैं कि उनके दूसरे घर (ससुराल) की मिट्टी आजाद और बहादुरों के घर की धरती है। उन्होंने कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म समारोह के मंच को भाजपा के कला के प्रति बहिष्कार और प्रतिबंध लगाने की रणनीति की आलोचना करने के लिए चुना।

शाहरुख खान के बहाने ममता पर निशाना
कोलकाता अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में शाहरुख खान ने भी कुछ यू पठान के गाने के विवाद के बीच जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सिनेमा मानवता की करुणा, एकता और भाईचारे की अपार क्षमता को सामने लाता है। ऐसे में दुनिया कुछ भी कर ले, मैं और आप लोग और जितने भी पॉजिटिव लोग हैं जिंदा रहेंगे।

Advertisement


इस बयान के बीच भाजपा नेता अमित मालवीय ने फिर से ममता बनर्जी पर निशाना साध दिया, उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ममता बनर्जी ने बंगाल के बेटे और सुपरस्टार मिथुन चक्रवर्ती को कोलकाता फिल्म फेस्टिवल के लिए आमंत्रित नहीं किया। इसी तरह उन्होंने शाहरुख को बंगाल का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया लेकिन सौरव गांगुली को नहीं किया जो बंगाल के सबसे बेहतरीन क्रिकेटरों में से एक हैं।
साफ है कि अमिताभ बच्चन और शाहरुख खान कोलकाता फिल्म समारोह में राजनीति के मोहरे बन गए हैं। अब देखना है कि यह विवाद किस ओर जाता है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button