छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय युवा दिवस पर आईपीएस रतनलाल डांगी का युवाओं के नाम संदेश….

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : रायपुर – आईपीएस रतनलाल डांगी ने राष्ट्रीय युवा दिवस पर युवाओं के नाम एक जारी किया है….. पढिये वो संदेश👇

Advertisement

मेरे युवा दोस्तों,
सबसे पहले स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस राष्ट्रीय युवा दिवस पर उनको शत शत नमन l
युवा ही अपने देश का भविष्य होता है l कोई देश भविष्य में वैश्विक जगत में कहां रहेगा यह उस देश के युवाओं द्वारा आज किए  जा रहे कार्यों पर ही निर्भर है l आप न केवल अपने परिवार की बल्कि देश की भी ताकत है, देश का गौरव है l
आप में अथाह ऊर्जा है, आप में जोश है , जुनून है l आप इस देश दुनिया को स्वर्ग बनाने जज्बा रखते हैं l 
मेरा मानना है आपको सही राह दिखाने की जरूरत है, सही दिशा देने की जरूरत है l ऐसा करने की जिम्मेदारी हमारी है l
हम आपको गाइड करे l न केवल आपके लिए बल्कि आपके परिवार एवम् राष्ट्र के लिए क्या उचित है और क्या अनुचित है , यह बताने का फर्ज हम समाज का है l उनका भी है जो युवा अवस्था का अनुभव ले चुके हैं l आज राष्ट्रीय युवा दिवस पर मैं अपना फर्ज समझता हूं कि आपको कुछ सलाह दूं, रास्ता बताऊं और उम्मीद करता हूं कि आपके लिए उपयोगी रहेगा l
युवा साथियों याद रखना जीवन की  कोई भी लड़ाई निराशा से नहीं जीती जा सकती । सबकी सामाजिक आर्थिक पृषठभूमि अलग अलग होती हैं जिससे कुछ युवा हीन भावनाओं से ग्रसित हो जाते हैं और जीवन से उम्मीद छोड़ देते हैं उनसे कहना चाहूंगा कि हम जहां है जैसे है वहीं से हमें फिर से शुरुआत करनी चाहिए। “सफलता तब मिलती है,जब आप सफल लोगों जैसे काम लगातार करते रहते हैं।” मेहनत सफलता का ईंधन है, इसलिए मेहनत करना जरूरी है l यदि मेहनत नहीं करोगे,तो सफलता की गाड़ी कभी भी प्लेटफॉर्म से आगे नहीं बढ़ पाएगी।इसलिए महत्वाकांक्षी बनिए,महत्वकांक्षा प्लेटफॉर्म और मंजिल के बीच का सफर तय करने में काम आती हैं । सफलता का मूल्य मेहनत है,और काम में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के बाद जीतने और हारने का मौका भी आपके हाथों में है।
संगति अच्छी चुनिए- यदि आप भेड़ियों की संगति करते हैं,तो गुर्राना ही सीखेंगे।और यदि आप गरुड़ों के साथ रहते हैं, तो शिखरों को छूना सीखेंगे।आयना तो आदमी का केवल चेहरा दिखाता है मगर उसकी असली पहचान तो उसके चुने गए दोस्तों से होती है।जुझारू बनिए,जुझारू लोग वहीं से अपनी सफलता की शुरुवात करते हैं, जहां दूसरे लोग हार मान लेते हैं। इसलिए उस पत्थर तोड़ने वाले की तरह बनिए, जो चट्टान पर लगातार वार करता है और चट्टान के दो टुकड़े कर देता है। आपका जुझारू होना जरूरी है।
जुनून जरूरी है-जुनून का होना सफलता की कुंजी है, क्योंकि  यह एक ऐसा गुण है, जो आपके लिए सफलता के द्वार खोल देता है और हर चीज को संभव बना देता है,जुनून होने पर सामान्य व्यक्ति भी शिखर पर पहुंच सकता है। यानी सफलता इस बात पर निर्भर नहीं करती है कि आप क्या करते हैं और क्या प्राप्त करते हैं, बल्कि  इस बात पर ज्यादा निर्भर  करती हैं की आपके अंदर जुनून कितना है।
सफल लोगों से सीखिए-जो लोग जीवन में सफल हुए हैं,वे जीवन में उससे अधिक असफल भी हुए हैं।
इसलिए जब आप कामयाब लोगों की सफलता की कहानियां पढे,तब आप उनकी असफलताओं की गिनती भी जरूर करें ।लेकिन याद रखें, कामयाब लोग उन असफलताओं को सबक और सीख का नाम देते हैं। इसलिए आपको भी असफलताओं से सीखना चाहिए,और आगे बढ़ते रहना चाहिए यही सफलता का रहस्य है।
सकारात्मक सोच रखिए-आपके मुंह से निकले बोलो में आपका भविष्य छिपा होता है और आप कल कहां पहुंचेंगे यह आपके मुंह से निकलने वाले शब्दों से पता चलता है । क्योंकि जो आप बोलते हैं, वह मन के भीतर छिपे विचारों की आवाज होती है।
इसलिए यह न सोंचे कि शब्द तो शब्द ही है, बल्कि शब्द आपका भविष्य है।इसलिए हमेशा सकारात्मक व प्रोत्साहित करने वाले ही शब्द बोले। आप जो मान लेते हैं,आज नहीं तो कल वह आप बन ही जाते हैं।
अच्छी आदतें पालिए-बुरी आदतें डालना आसान है, लेकिन उनके साथ रहकर जीना मुश्किल होता है, अच्छी आदतें डालना मुश्किल होता है,लेकिन उनके साथ जीना आसान होता है ।क्योंकि हर चीज आसान होने से पहले मुश्किल होती है। इसलिए काम करने की आदत डालें, फिर उस आदत को दिनचर्या में बदल दें, तब आपके व्यक्तित्व का विकास होगा और आप उत्कृष्ट काम करने के आदि हो जाएंगे।
निरंतरता जरूरी है-जरा सोचिए, सूर्य, पृथ्वी, चांद सितारे क्या एक क्षण भी ठहर सकते हैं? क्या प्रकृति की कोई चीज आराम करती हैं? जब यह बिना रुके चल सकते हैं, तो आप क्यों नहीं चल सकते हैं।
मेहनत करते रहिए-कहावत है कि मनुष्य की सफलता कार के पहियों की तरह होती है। जब तक कार चलती है, तब तक तो पहिए भी चलते हैं। लेकिन जब कार खड़ी हो जाती है,तो पहिए भी रुक हो जाते हैं  यानी कि जब तक आप मेहनत करते रहेंगे आपको सफलता मिलती रहेगी। जिस दिन आप रुक गए मान लीजिए सफलता भी रुक गई।
मोटिवेशनल स्पीच,स्टोरी सुनिए-प्रेरणादायक स्पीच को पढ़कर आप सफलता हासिल नहीं कर सकते हैं सफल होने के लिए इन motivational speech का जीवन में पालन भी करना है। क्योंकि सिर्फ पढ़ने से कुछ नहीं होता है ।
हार मत मानिए-अधिकांश लोग उस समय हार मान लेते हैं जहां से सफलता की दूरी कुछ ही रहें जाती है।
लक्ष्य पर फोकस कीजिए-लक्ष्य पर सही निशाना तभी लग सकता है जब आपका फोकस पूरी तरह लक्ष्य पर ही हो। सफलता तक पहुंचने के लिए नदी की तरह निरंतर आगे बढ़ते रहना होगा । अगर आप बिना रुके निरंतर बढ़ते रहते हैं, तो सफलता आपको मिलनी ही है।
ठान लीजिए-ज़िन्दगी में जीत और हार तो हमारी सोच बनाती है,जो मान लेता है वो हार जाता है,जो ठान लेता है वो जीत जाता है।शिखर पर पहुंचने के लिए कोई शॉर्टकट नहीं होता, सफलता सही समय और सही दशा में तैयारी करने से मिलती है ।
काबिल बनो,कामयाबी तो झक मारकर आपके पास आएगी ।
मेहनत का कोई शॉर्टकट नहीं होता,-यदि एक बार पिछड़ गए,तो यह मत समझो कि हम ज़िन्दगी की दौड़ में पीछे रहे गए, बल्कि मुश्किलों से जूझते हुए आगे बढ़ते चलो क्योंकि मुश्किलों को जीतने वाला ही विजेता कहलाता है।
अपने पर विश्वास रखिए,सफलता के लिए विश्वास,विश्वास के लिए दृढ़ संकल्प,संकल्प के लिए शांति और शांति
के लिए सृजनशीलता जरूरी है लेकिन सृजनशीलता के लिए मौन रहना जरूरी है। इसलिए जब भी संभव हो, मौन रहो,मौन में उतरने पर कल्पना के पंख लग जाएंगे। मस्तिष्क सृजनशील हो जाएगा और आप विश्व में अपनी सफलता का परचम फहराएंगे । जीवन में सफल होने के लिए Motivational speech, quotes,story and Success story  से हमारे जीवन में बहुत बड़ा परिवर्तन आता है, दोस्तों जीवन में आगे बढ़ते रहने के लिए आपको मोटिवेट रहना बहुत जरूरी है।
मोटिवेशन के बिना ज़िन्दगी की रफ्तार रुक जाती है, इस लिए आपको best Motivational speech and-inspirational speech सुनते व पढ़ते रहना चाहिए. जिससे आपके अंदर का जोश जुनून बना रहे और आप किसी भी लक्ष्य को हासिल करने में कामयाब हो जाए । बस हिम्मत बनाए रखना कामयाबी आपका जन्म सिद्ध।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button