Uncategorized

भारतीय मूल के थर्मन शनमुगरत्नम ने जीता सिंगापुर के राष्ट्रपति पद का चुनाव, मिले इतने फीसदी वोट

(शशि कोन्हेर) : भारतीय मूल के थर्मन शनमुगरत्नम ने सिंगापुर के राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत लिया है. रॉयटर्स के मुताबिक, चुनाव विभाग ने शुक्रवार (1 सितंबर) को घोषणा करते हुए बताया कि शनमुगरत्नम (Tharman Shanmugaratnam) ने 70.4 फीसदी वोट के साथ जीत दर्ज की है. 

Advertisement

सिंगापुर में नौवें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए शुक्रवार (1 सितंबर) को मतदान हुआ है. जिसमें लोगों ने बड़ी संख्या में भाग लिया. सिंगापुर में 27 लाख से ज्यादा लोग मतदान के पात्र थे और मतदान केंद्र रात्रि आठ बजे तक खुले. इसके बाद मतगणना शुरू हुई थी. 

Advertisement

दो और उम्मीदवार थे रेस में

Advertisement

66 वर्षीय थर्मन शनमुगरत्नम के अलावा राष्ट्रपति पद की दौड़ में दो अन्य उम्मीदवार- सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी के पूर्व निवेश प्रमुख एनजी कोक सॉन्ग और सरकारी बीमा कंपनी के पूर्व प्रमुख टैन किन लियान भी शामिल थे. 

थर्मन शनमुगरत्नम रह चुके हैं सिंगापुर के उप-प्रधानमंत्री

थर्मन शनमुगरत्नम सिंगापुर के उप-प्रधानमंत्री रह चुके हैं. उन्होंने शिक्षा और वित्त मंत्री के पद भी संभाले हैं. राजनीति में 2001 में आए शनमुगरत्नम ने दो दशक से ज्यादा समय तक सत्तारूढ़ पीपुल्स एक्शन पार्टी (पीएपी) के साथ सार्वजनिक क्षेत्र के और मंत्री पदों पर कार्य किया है. 

निवर्तमान राष्ट्रपति का कार्यकाल 13 सितंबर को होगा समाप्त

सिंगापुर की निवर्तमान राष्ट्रपति हलीमा याकूब का कार्यकाल 13 सितंबर को समाप्त हो रहा है. वह देश की पहली महिला राष्ट्रपति रही हैं. सिंगापुर में साल 2017 का राष्ट्रपति चुनाव एक आरक्षित चुनाव था जिसमें केवल मलय समुदाय के सदस्यों को चुनाव लड़ने की अनुमति थी. 

Advertisement

2011 के बाद पहला राष्ट्रपति चुनाव 

Advertisement

उस दौरान हलीमा को राष्ट्रपति नामित किया गया था क्योंकि कोई अन्य उम्मीदवार नहीं था. साल 2011 के बाद सिंगापुर में ये पहला राष्ट्रपति चुनाव है. सिंगापुर में राष्ट्रपति पद के लिए पहला चुनाव 28 अगस्त 1993 को हुआ था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button