राजनांदगांव

मोटरयान अधिनिमय 1988 के तहत् हुई समन शुल्क में बढ़ोतरी…..

Advertisement

(उदय मिश्रा) : राजनांदगांव – मोटरयान अधिनियम 1988 की धारा 200 की उपधारा (1) द्वारा राज्य सरकार द्वारा नीचे दी गई सूची में वर्णित समन शुल्क में परिवर्तन किया गया है। जिसमे मुख्य धारा निम्नानुसार है।

Advertisement


समन शुल्क पूर्व एवं वर्तमान
वाहन चलाते हुये मोबाईल से बात करना- 1000 से 2000
तीन सवारी समन शुल्क- 200 से 300
तेजगति से वाहन चालन – 500 से 1000
खतरनाक तरीके से वाहन चालन- 1000 से 2000
प्रदूषण/शोर करने वाले वाहन- 200 से 300
बिना रजिस्ट्रेशन- 500 से 1000
बिना परमीट- 2000 से 5000
बिना सीट बेल्ट- 200 से 500
बिना हेलमेट- 500 से 500
बिना बीमा- 300 से 2000
बिना लायसेंस- 500 से 1000
ओव्हर लोड – 3000 प्रतिटन से 10000 प्रतिटन
माल वाहन में उॅचा, लम्बा लोड- 200 से 20000
यात्री वाहन में अधिक सवारी बैठाना -100 प्रति व्यक्ति से 100 प्रति व्यक्ति
पुलिस अधिकारी के आदेश की अव्हेलना -500 से 500
वाहन का भार कराने से इंकार- 2500 से 20000

Advertisement

मोटरयान अधिनियम 1988 के तहत् राज्य सरकार के द्वारा अधिकांश धाराओं में समन शुल्क में वृद्धि की गई है, अधिकांश वृद्धियां दोगुनी या अधिक है, यह वृद्धियां आज दिनॉक से लागू है। अतः समस्त नागरिक गणों से अपील की जाती है, कि असुविधा व आर्थिक हानि से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन करें व सुरक्षित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button