विदेश

गलवान घाटी की हिंसक झड़प में, चीन के 38 से ज्यादा सैनिक मारे गए थे.. ऑस्ट्रेलियाई अखबार का दावा..!

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : साल 2020 में गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में चीन को भारत से कहीं ज्यादा नुकसान हुआ था। और उसके कई सैनिकों की मौत नदी में डूबने से हुई थी। यह दावा ऑस्ट्रेलिया के अखबार द कलेक्शन ने अपनी रिपोर्ट में पेश किया है। बुधवार को प्रकाशित इस रिपोर्ट में अखबार ने कुछ रिसर्चर्स एवं चीनी ब्लॉगरों के निष्कर्षों का हवाला दिया है। अखबार का कहना है कि इन्होंने सुरक्षा के लिए अपनी पहचान सार्वजनिक नहीं की है। लेकिन उन्होंने जो निष्कर्ष निकाले हैं उससे गलवान घाटी मामले पर चीन के दावों की पोल खोल दी है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि झड़प में चीन के 38 सैनिक मारे गए। अखबार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भगवान की झड़प में चीनी सैनिकों के मारे जाने की बात नई नहीं है। लेकिन सोशल मीडिया एवं रिसर्च रस के एक समूह ने जो साक्ष्य जुटाए हैं उसे देखते हुए यह दावे सही रखते हैं कि झड़प में कहीं ज्यादा चीनी सैनिकों की मौत हुई थी। हालांकि चीन अधिकारिक रूप से कहता आया है कि गलवान घाटी की झड़प में उसके मात्र 4 सैनिक मारे गए थे। जबकि इस रिपोर्ट में कहा गया है कि गलवान घाटी की हिंसा में अपने हताहत सैनिकों की सही संख्या सामने ना आए और इस पर बहस एवं चर्चा ना हो, इसे लेकर चीन ने काफी सख्ती दिखाई थी। अखबार के मुताबिक गलवान की ऊंची चोटियों पर हुई हिंसक झड़प में दावे से कहीं ज्यादा चीनी सैनिकों की मौत हुई। एक पुल पर अंधेरे में भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में चीन के कई सैनिक पुल से नीचे गिर कर नदी की तेज धारा में बह गए। 15 जून 2020 को हुए इस खूनी संघर्ष में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे। अब यह साफ हो गया है कि चीन को इस संघर्ष में काफी अधिक नुकसान हुआ था और उसके 38 से अधिक सैनिक भारत के साथ में संघर्ष में मारे गए थे।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button