देश

दिल्ली के स्टेडियम में कुत्ता टहलाने वाली IAS अधिकारी पर गिरी गाज….सरकार ने कर दिया जबरन रिटायर

Advertisement

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में कुत्ते को सैर करवाने को लेकर पिछले साल सुर्खियों में आए आईएएस दंपति को झटका लगा है। केंद्र सरकार ने आईएएस अफसर रिंकू दुग्गा को अनिवार्य रिटायरमेंट दे दिया है। सरकार ने यह फैसला रिंकू दुग्गा के करियर के ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर लिया है। वह 1994 बैच की एजीएमयूटी कैडर की अधिकारी हैं, जोकि वर्तमान में अरुणाचल प्रदेश में पोस्टेड थीं।

Advertisement

रिंकू के पति संजीव खिरवार भी 1994 बैच के आईएएस अधिकारी हैं, जिनकी वर्तमान में लद्दाख में पोस्टिंग है। पिछले साल, आईएएस दंपति के स्टेडियम में कुत्ते को टहलाने की खबर सामने आने के बाद हड़कंप मच गया था और फिर कार्रवाई करते हुए पति को लद्दाख और पत्नी को अरुणाचल प्रदेश में ट्रांसफर कर दिया गया। अब रिंकू दुग्गा पर कार्रवाई करते हुए उन्हें कम्पलसरी रिटायर करने का आदेश दिया गया है।

जानकारी के एक सरकारी अधिकारी ने बताया, ”रिंकू दुग्गा के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए कम्पलसरी रिटायरमेंट दिए जाने का ऑर्डर जारी किया जा चुका है।” अधिकारी ने कहा, ”दुग्गा को मौलिक नियम (एफआर) 56 (जे), केंद्रीय सिविल सेवा (सीसीएस) पेंशन नियम, 1972 के नियम 48 के तहत सेवानिवृत्त किया गया था। सरकार को किसी भी सरकारी कर्मचारी को जनहित में सेवानिवृत्त करने का अधिकार है।”

पिछले साल मई महीने में सामने आई रिपोर्ट में बताया गया था कि दिल्ली सरकार द्वारा संचालित त्यागराज स्टेडियम में एथलीट्स को तय समय से पहले ही ट्रेनिंग पूरी करने के लिए मजबूर किया जा रहा था। इसके पीछे उस समय दिल्ली के प्रधान सचिव (राजस्व) संजीव खिरवार और उनकी आईएएस पत्नी को जिम्मेदार ठहराया गया था, क्योंकि वे अपने साथ कुत्ते को भी स्टेडियम में टहलाने ले जाते थे, जिसकी वजह से स्टेडियम को खाली करा लिया जाता।

रिपोर्ट सामने आने के बाद गृह मंत्रालय ने दिल्ली के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद जब मुख्य सचिव ने तथ्यात्मक स्थिति पर गृह मंत्रालय को एक रिपोर्ट सौंपी, फिर मंत्रालय को दोनों का ट्रांसफर कर दिया गया। उधर, विवाद बढ़ने के तुरंत बाद, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने त्यागराज स्टेडियम सहित दिल्ली सरकार द्वारा संचालित सभी खेल सुविधाओं को रात 10 बजे तक खिलाड़ियों के उपयोग के लिए उपलब्ध कराने का आदेश दिया था।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button