देश

हिमसागर, लक्ष्मणभोग – सियासी तल्खी भूल….. ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे आम

(शशि कोन्हेर) : ममता बनर्जी…पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और विपक्ष का ऐसा चेहरा, जो किसी भी मुद्दे पर बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधने से नहीं चूकतीं. अपने तीखे तेवरों के लिए जानी जाने वालीं ममता बनर्जी ने तमाम राजनीतिक मतभेदों के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अच्छी किस्म के आम भेजे हैं.

Advertisement

12 साल की लंबी परंपरा का पालन करते हुए इस साल भी सीएम ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री ऑफिस में मौसमी फल भेजे हैं. ममता बनर्जी के करीबी सूत्रों ने खुलासा किया है कि मंगलवार शाम को आम डिस्पैच हो गए हैं.

Advertisement


जानकारी के अनुसार पीएम मोदी को हिमसागर, लक्ष्मणभोग और फाजली समेत तमाम किस्मों के चार किलो आम भेजे गए हैं. ये आम एक खूबसूरत गिफ्ट बॉक्स में पैक करके भेजे गए हैं. पीएम मोदी के अलावा दिल्ली में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और भारत के चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ को भी आम भेजे गए हैं.

Advertisement

सूत्रों के मुताबिक,दिल्ली ही नहीं सीएम बनर्जी ने बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना को भी आमों के साथ अपनी शुभकामनाएं भेजीं. इससे पहले 2021 में ममता बनर्जी के उपहार के बदले शेख हसीना ने पीएम मोदी और उनके लिए उपहार में 2,600 किलोग्राम आम भेजे थे. बांग्लादेशी ट्रकों में लाई गई इस खेप में प्रसिद्ध ‘हरिभंगा’ आम के 260 डिब्बे थे.सीएम बनर्जी ने पारंपरिक प्रथा को बरकरार रखते हुए पिछले साल कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को आम भेजे थे.

Advertisement

पीएम मोदी और ममता बनर्जी के बीच रिश्ते खट्टे-मीठे रहे हैं. 2019 में पीएम मोदी ने खुलासा किया था कि दुर्गा पूजा के मौके पर ममता बनर्जी ने उन्हें कुर्ता-पायजामा और मिठाई भेजी थी. पीएम मोदी ने अक्षय कुमार को दिए इंटरव्यू में खुलासा किया था, ”विपक्षी दलों में मेरे कई दोस्त हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि ममता दीदी अब भी हर साल मेरे लिए एक या दो कुर्ते खुद चुनती हैं.”

Advertisement

ममता और पीएम मोदी के बीच ये मैंगो डिप्लोमेसी ऐसे समय में आई है, जब हाल ही में ओडिशा के बालासोर में हुए रेल हादसे में 288 लोगों की मौत हो गई. इस हादसे को लेकर टीएमसी और बीजेपी एक दूसरे पर हमलावर है. सीएम बनर्जी ने भी हादसे को लेकर सवाल उठाए थे.

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button