देश

नमस्कार पृथ्वीवासियो! चांद के सीक्रेट जल्द बताएगा रोवर प्रज्ञान

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान-3 के रोवर प्रज्ञान को लेकर मंगलवार को नया अपडेट जारी किया। इसमें बताया गया कि रोवर जल्द ही चांद के नए रहस्यों को उजागर करने वाला है। चंद्रयान-3 के आधिकारिक एक्स हैंडल से पोस्ट किया गया, ‘नमस्कार पृथ्वीवासियो!

Advertisement

यह #Chandrayaan3 का प्रज्ञान रोवर है। मैं आशा करता हूं कि आप लोग बहुत अच्छे होंगे। आप सभी को यह बताना चाहता हूं कि मैं चंद्रमा के रहस्यों को उजागर करने के रास्ते पर हूं। मैं और मेरा दोस्त विक्रम लैंडर एक-दूसरे के संपर्क में हैं। हम ठीक ढंग से काम कर रहे हैं। हमारा बेस्ट जल्द ही आने वाला है।’

Advertisement

इससे पहले सोमवार को इसरो ने बताया था कि चंद्रयान-3 मिशन के तहत भेजा गया रोवर प्रज्ञान चंद्रमा की सतह पर 4 मीटर व्यास के गड्ढे के करीब पहुंच गया, जिसके बाद उसे पीछे जाने का निर्देश दिया गया। ISRO ने सोशल मीडिया पर पोस्ट में कहा कि यह अब सुरक्षित रूप से नए रूट पर आगे बढ़ रहा है।

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि 27 अगस्त को रोवर 4 मीटर व्यास के गड्ढे के नजदीक पहुंच गया, जो इसकी स्थिति से 3 मीटर आगे था। इसे देखते हुए रोवर को पीछे जाने का निर्देश दिया गया।

चांद पर तापमान भिन्नता का ग्राफ जारी
इसरो ने चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर के साथ लगे चेस्ट उपकरण की ओर से चंद्र सतह पर मापी गई तापमान भिन्नता का ग्राफ रविवार को जारी किया था। अंतरिक्ष एजेंसी के अनुसार, चंद्र सरफेस थर्मो फिजिकल एक्सपेरिमेंट (चेस्ट) ने चंद्रमा की सतह के तापीय व्यवहार को समझने के लिए दक्षिणी ध्रुव के आसपास चंद्रमा की ऊपरी मिट्टी का ‘तापमान प्रालेख’ मापा।

चंद्रमा की सतह के तापीय व्यवहार को समझने के लिए ‘चेस्ट’ ने ध्रुव के चारों ओर चंद्रमा की ऊपरी मिट्टी के तापमान प्रलेख को मापा। पेलोड में तापमान को मापने का एक यंत्र लगा हुआ है जो सतह के नीचे 10 सेंटीमीटर की गहराई तक पहुंचने में सक्षम है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button