देश

किराए पर फ्लैट लेकर उगा रहे थे गांजा, गमलों में यूज होती थी ग्रीन हाउस टेक्निक

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : गुजरात के अहमदाबाद में फ्लैट में गांजे की खेती करने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। गुजरात के अहमदाबाद के बाहरी इलाके में एक हाउसिंग सोसाइटी में किराए के दो फ्लैटों में हाइड्रोपोनिक तकनीक का उपयोग करके कथित तौर पर गांजा की खेती करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Advertisement

एक अधिकारी ने बताया कि तीनों ने भांग की खेती के लिए एक आवासीय इमारत की 15वीं मंजिल पर दो अपार्टमेंट के अंदर तापमान और आर्द्रता नियंत्रण के साथ दो हाई-टेक ग्रीनहाउस लगाए थे। पुलिस के अनुसार सभी के खिलाफ NDPS Act की धाराओं में अपराध दर्ज किया गया है।

Advertisement

पुलिस के मुताबिक, मामले में झारखंड के तीन लोगों रवि प्रकाश, विरेन प्रभात और रितिका को गिरफ्तार किया गया है। तीनों ने 35 हजार रुपए में दो फ्लैट किराए पर लिए गए थे। पुलिस ने बताया कि ये तीनों गांजे के पौधे की हाइड्रोपोनिक्स खेती करते थे।

इसमें बिना मिट्टी के पौधों को उगाया जाता है। ग्रीन हाउस इफैक्ट से अच्छी गुणवत्ता के गांजे की खेती का सिस्टम बनाया गया था। पौधों के जल्दी विकास के लिए केमिकल का उपयोग भी किया जाता था। सर्किट आदि लगाकर तापमान मेंटेन रखने की व्यवस्था की गई थी।

आरोपितों में रवि प्रकाश ने एग्रीकल्चर की पढ़ाई की है। पौधों को इलेक्ट्रिक सर्किट की सहायता से पानी दिया जाता था। पौधों की अच्छी ग्रोथ के लिए जरूरी 16 से 20 डिग्री तापमान को मेंटेन किया जाता था। रितिका यह मेंटेन करती थी।

पिछले कुछ दिनों से फ्लैट में बड़े-बड़े पार्सल आ रहे थे तो लोगों को शक हुआ और उन्होंने पुलिस को खबर दी। इसके बाद सरखेज पुलिस ने रविवार को छापेमारी की और हाइड्रोपोनिक गांजा बरामद किया। यहां लगभग 100 गमलों में 5 सेमी तक ऊंचे भांग के पौधे थे।

पुलिस ने फ्लैट से लगभग एक किलोग्राम वजन वाले आधे-अधूरे पौधे, 96 गमले या कंटेनर, आर्द्रता और तापमान नियंत्रक, ‘पीएच’ पानी मीटर और एयर कंडीशनर जब्त किए। उन्होंने बताया कि जांच से पता चला है कि आरोपियों ने इन फ्लैटों को करीब डेढ़ महीने पहले 35,000 रुपये प्रति माह पर किराए पर लिया था। अधिकारी ने कहा, ‘हमें पता चला कि इस रैकेट का मास्टरमाइंड मुरारका का भाई उज्जवल था, जो अभी भी फरार है।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button