देश

शोभायात्रा के दौरान धमाका, छतों से बरसाए पत्थर, रामनवमी पर बंगाल में जबरदस्त हिंसा..

Advertisement

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार को रामनवमी जुलूस के दौरान झड़पें हुईं। इसमें कई लोग घायल हो गए। यह घटना शक्तिपुर इलाके की है। इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया में शेयर किए जा रहे हैं, जिसमें लोगों को अपनी छतों से जुलूस पर पथराव करते देखा जा सकता है।

Advertisement

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पुलिस ने कहा कि स्थिति को नियंत्रण में ले लिया गया है और क्षेत्र में अतिरिक्त बल भेजा गया है। घायल लोगों को इलाज के लिए बेहरामपुर के मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ले जाया गया।

Advertisement

बंजाल बीजेपी ने आरोप लगाया है कि रैली पर पथराव किया गया और दुकानों में तोड़फोड़ की गई। शुभेंदु अधिकारी ने कहा, “शांतिपूर्ण रामनवमी जुलूस के लिए प्रशासन से सभी अनुमति ली गई थी।

इसके बावजूद, मुर्शिदाबाद के शक्तिपुर में बेलडांगा – II ब्लॉक में उपद्रवियों द्वारा हमला किया गया। अजीब बात है, इस बार ममता पुलिस इस भयानक हमले में उपद्रवियों के साथ शामिल हो गई। आंसू गैस इसलिए छोड़ी गई ताकि जुलूस अचानक समाप्त हो जाए। राम भक्तों पर गोले दागे गए।”

बहरामपुर के सांसद और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार शाम को क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने कहा, “मैं मालदा से झड़प में घायल हुए लोगों को देखने आया था।

लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं ने अस्पताल में यह दावा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया कि हिंदुओं पर हमला हो रहा है और मुझसे जवाब मांग रहे हैं। विरोध करने वालों को उन लोगों से पूछना चाहिए जिन्हें जवाब देने की जरूरत है।”

मुर्शिदाबाद जिले के शक्तिपुर में ही बुधवार शाम को एक और घटनी हुई। रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान हुए विस्फोट में एक महिला घायल हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। घायल महिला को मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाया गया।

Advertisement

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘विस्फोट आज शाम को हुआ। इसमें एक महिला घायल हो गई। हम घटना की जांच कर रहे हैं।’’ हालांकि, अधिकारी ने यह स्पष्ट नहीं किया कि विस्फोट बम से हुआ या किसी अन्य कारण से धमाका हुआ।

Advertisement

आपको बता दें कि हाल ही में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा मुर्शिदाबाद में रामनवमी पर दंगे भड़कने की चेतावनी दी गई थी। उन्होंने चुनाव आयोग के द्वारा मुर्शिदाबाद के पुलिस उप महानिरीक्षक को हटाने के बाद आई थी। ममता ने कहा था, “आज भी सिर्फ बीजेपी के निर्देश पर मुर्शिदाबाद के DIG को बदल दिया गया।

अब अगर मुर्शिदाबाद और मालदा में दंगे होते हैं, तो जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होगी। बीजेपी दंगे और हिंसा भड़काने के लिए पुलिस अधिकारियों को बदलना चाहती थी। अगर एक भी दंगा होता हैतो चुनाव आयोग इसका जिम्मेदार होगा क्योंकि वे यहां कानून व्यवस्था की देखभाल कर रहे हैं।” ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि रामनवमी के मौके पर राज्य में दंगे भड़काने की साजिश रची जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button