देश

क्या आपको मालूम है कि दुनिया भर के हिंदुओं ने कपिल मिश्रा के जरिए 1 करोड़ 70 लाख रुपए उदयपुर क्यों भेजें… जानिए…!

(शशि कोन्हेर) : उदयपुर में हुई कन्हैयालाल की बर्बर हत्या के बाद लगातार नेताओं के उनके परिवार से मिलने का सिलसिला जारी है. इसी सिलसिले में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा भी उनके परिवार से मिलने के लिए पहुंचे. बड़ी बात ये है कि हत्याकांड के बाद में कपिल मिश्रा ने अपील की थी कि कन्हैया लाल के परिवार को आर्थिक मदद दी जाए।

Advertisement

इस पर दुनिया भर से 14416 लोगों ने एक करोड़ 70 लाख रुपये जुटाए हैं. कपिल मिश्रा ने परिवार को सांत्वना देते हुए 1 करोड़ रुपए देने की घोषणा की है. साथ इस घटनाक्रम में जो घायल हुए हैं उनके परिवार को भी आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

Advertisement

कन्हैयालाल जी का कर्ज कोई नहीं उतार सकता

Advertisement

कपिल मिश्रा ने बताया कि कन्हैयालाल जी ने जो बलिदान दिया है उसके लिए पूरा देश और हिंदू समाज उनका ऋणी है. ये कर्ज समाज कभी उतार नहीं पाएगा. जिन जिहादियों ने ये हत्याकांड किया है मैं उनको कहना चाहूंगा कि तुम हमें डरा नहीं सकते, तुम हमें हरा नहीं सकते।

ये भारत की पुण्य भूमि है जिसमें आतंक जब-जब आया है तब तक उसकी पराजय हुई है. कन्हैयालाल जी जैसे साहसी सपूत और वीर यहां पैदा होते हैं, आप उन्हें छल और धोखे से तो मार सकते हो लेकिन साहस को नहीं हरा सकते.

आर्थिक सहायता और बेटे के कोचिंग की जिम्मेदारी

कपिल मिश्रा ने बताया कि हमने अपील की थी कि कन्हैयालाल के परिवार को आर्थिक सहायता दी जाए जिसके लिए दुनियाभर से 1 करोड़ 70 लाख रुपए आए हैं. इसमें से एक करोड़ रुपए कन्हैयालाल के परिवार को दिए जाएंगे. साथ ही मुकदमा लड़ने में जो खर्चा आएगा वो हम भी उठाएंगे. साथ ही बेटे को कोचिंग करनी है उसकी भी जिम्मेदारी लेंगे।

इसके अलावा इस मामले में ईश्वर घयाल हुए है उनके परिवार को 25 लाख रुपए और राजसमन्द भीम थाने के कांस्टेबल संदीप के परिवार को 5 लाख रुपए दिए जाएंगे. महाराष्ट्र के अमरावती में मुकेश कोल्हे जी जिनकी भी स्टेटस डालने के कारण हत्या हुई उनके परिवार को 30 लाख रुपए दिए जाएंगे. इधर अभी भी लगातार लोग राशि दे रहे हैं, जिसमें जो भी राशि आएगी वहो कन्हैयालाल जी के परिवार को दी जाएगी।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button