देश

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने “दीवार” फिल्म के डायलॉग से कुछ यूं बोला बीजेपी पर हमला

(शशि कोन्हेर) : दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल मंगलवार (पांच जुलाई, 2022) को दिल्ली विधानसभा में फिल्मी अंदाज में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर हमलावर होते नजर आए। उन्होंने इसके लिए बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन की पुरानी फिल्म दीवार के एक डायलॉग का सहारा लिया। उन्होंने हू-ब-हू फिल्मी डायलॉग तो नहीं दोहराया, मगर उससे मिलते-जुलते शब्दों के जरिए बीजेपी को घेरा।

Advertisement

वह बोले- ये चुनाव नहीं कराएंगे। क्यों नहीं कराएंगे…एक पिक्चर आई थी, अमिताभ बच्चन की। नाम था- दीवार। देखी होगी आप सब ने। उसमें अमिताभ और शशि कपूर आपस में बात कर रहे होते हैं। बच्चन उस सीन में कहते हैं कि तुझे क्या मिला? मेरे पास तो धन-दौलत, गाड़ी और बंगला है…तुम्हारे पास क्या है? शशि कपूर कहते हैं- मेरे पास मां है।

Advertisement

BJP: हमारे पास ED है, CBI है, दिल्ली पुलिस है, सारी दौलत है, हर District में Office है। तुम्हारे पास क्या है?

Advertisement

बकौल केजरीवाल, “आज ये बीजेपी वाले दिल्ली वालों को सरेआम धमकी दे रहे हैं। कहते हैं कि हमारे पास ईडी है, सीबीआई है, इनकम टैक्स है, दिल्ली पुलिस है, सारी दौलत है और हर जिले में बड़े-बड़े ऑफिस हैं। तुम्हारे पास क्या है? ऐसे में दिल्ली की दो करोड़ जनता एक साथ बोलती है कि हमारे पास हमारा बेटा केजरीवाल है।”

एक व्यक्ति जिसने 18 लाख बच्चों का भविष्य बनाया हो, उसे तुम जेल में डालोगे तो ये देश के लिए काला दिन होगा।

दिल्ली सीएम के अनुसार, ये लोग धमकी दे रहें कि अगस्त अंत तक दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को भी गिरफ़्तार करेंगे। सिसोदिया ने दिल्ली के 18 लाख बच्चों का भविष्य बनाया है। आपके 19 राज्य के स्कूल एक तरफ और दिल्ली के स्कूल एक तरफ। ईडी ने पिछले हफ्ते हमारे एक कार्यकर्ता से 10 घंटे तक पूछताछ की। क्या वह चोर दिखते हैं, जो बीजेपी उन्हें धमका रही है?

विस के बाहर पत्रकारों को उन्होंने बताया, “आज सदन में नगर निगम के चुनावों को लेकर चर्चा हुई। उन्होंने बिल लाकर तीनों निगमों के एकीकरण के नाम पर चुनाव टाले हैं। बिल पास होने के बाद कहा गया था कि परिसीमन आयोग बनाएंगे और फिर चुनाव होंगे। एकीकरण को हुए भी लगभग 1.5 महीना हो गया है। लेकिन अभी तक परिसीमन आयोग बनाया ही नहीं और न ही इनका बनाने का मन है। इससे जाहिर होता है कि भाजपा आप से डरती है। वो चुनाव नहीं कराना चाहते। ये जनतंत्र के खिलाफ है, संविधान के खिलाफ है। अगर जल्द से जल्द चुनाव नहीं कराए गए तो हम कोर्ट भी जा सकते हैं।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button