देश

कांग्रेस विधायक ने कराया मुंडन, CM को ‘बाल’ भेजने का ऐलान; कहा- मर चुका गहलोत का ईमान

Advertisement

(शशि कोन्हेर).: राजस्थान में कांग्रेस विधायक भरत सिंह कुंदनपुर ने सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोल दिया है। विधायक ने सीएम गहलोत को पत्र लिखा है। विधायक ने पत्र में लिखा- कोटा में रिवर फ्रंट के उद्धाटन प आपको मेरी बधाई। आपका कोटा में स्वागत करने के स्थान पर मैंने अपने निवास पर सांगोद विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ गृहमंत्री मुर्दाबाद के नारे लगवाने की घोषणा की है।

Advertisement

भाया के भ्रष्टाचार तो आप द्वारा प्रदान किया गया खुला समर्थन तथा खान की झोपड़ियां गांव को कोटा जिले में शामिल नहीं करने पर आपके संकल्प पर मैं खेद प्रकट करता हूं। उल्लेखनीय है कि आज यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने समेत अन्य मंत्रियों ने कोटा रिवर फ्रंट का लोकार्पण किया है। सीएम गहलोत का आज कोटा का प्रस्तावित दौरा था, लेकिन अचानक रद्द हो गया। अब सीएम कल कोटा जाएंगे।

Advertisement

बोले- गहलोत को यह शोभा नहीं देता है

सांगोद विधायक ने अपने पत्र में आगे लिखा- गांधीवादी अशोक गहलोत को यह शोभा नहीं देता है। आपका ईमान मर चुका है। आपके ईमान के मरने पर मैं मुंडन करवाकर अपने कैस आपकों भेंट कर रहा हूं। कृपया यह तुच्छ भेंट स्वीकार करें। व महात्मा गांधी को याद कर उनके बतलाए गए सात पाप पर चिंतन करें।

मुख्यमंत्री का यह पद स्थाई नहीं है। बता दें इससे पहले भी विधायक भरत सिंह सीएम गहलोत को पत्र लिख चुके हैं। लेकिन शायदी ही सीएम ने किसी पत्र का जवाब दिया हो। विधायक का आरोप है कि खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया करप्शन कर रहे हैं। लेकिन सीएम गहलोत किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहे है।

कोटा के बड़े कांग्रेस नेता है भरतसिंह

सांगोद विधायक भरत सिंह कोटा के बड़े कांग्रेस नेता माने जाते हैं। सीएम गहलोत के दूसरे कार्यकाल में पंचायती राज मंत्री रहें। लेकिन इस बार उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया है। भरत सिंह के सियासी विरोधियों का कहना है कि मंत्री नहीं बनाने का मलाल है। इसलिए सरकार की आलोचना करते है। बीजेपी के इशारे पर काम करते है। हालांकि, मंत्री प्रमोद जैन भाया ने कभी खुलकर भरत सिंह पर निशान नहीं साधा है।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button