देश

भाजपा नेता के फार्म हाउस में चल रहा था वेश्यालय, 6 बच्चे छुड़ाएं, 73 गिरफ्तार.. मेघालय का मामला

(शशि कोन्हेर) : मेघालय पुलिस ने वेस्ट गारो हिल्स जिला मुख्यालय तुरा के बाहरी इलाके में स्थित एक फार्म हाउस में छापा मार वहां कथित तौर पर चल रहे ‘वेश्यालय’ से छह बच्चों को छुड़ाया है जबकि 73 लोगों को गिरफ्तार किया है.

Advertisement

इन गिरफ्तार लोगों में एक नाबालिग बताया गया है. पुलिस का कहना है कि जिस फार्म हाउस में यह ‘वेश्यालय’ चल रहा था, उसके मालिक बर्नार्ड एन मराक उर्फ रिम्पू हैं.

Advertisement

इस समय बर्नार्ड एन मराक मेघालय प्रदेश बीजेपी के उपाध्यक्ष हैं और गारो हिल्स स्वायत्तशासी जिला परिषद के सदस्य भी हैं.

Advertisement

वेस्ट गारो हिल्स जिले के पुलिस अधीक्षक विवेकानंद सिंह राठौड़ ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बीबीसी से कहा, “हमारे पास रिम्पू बागान नामक फार्म हाउस में ‘वेश्यालय’ चलाने की कई शिकायतें आई थी. उसी के आधार पर पुलिस ने बर्नार्ड एन मराक स्वामित्व वाले फार्म हाउस पर शुक्रवार को छापा मारा और यह कार्रवाई शनिवार शाम तक चली.”

पुलिस अधीक्षक ने बताया, “जिस फार्म हाउस में यह ‘वेश्यालय’ चल रहा था उसका मालिक बर्नार्ड एन मराक उर्फ रिम्पू है. वही इस ‘वेश्यालय’ का चला रहा था. हमें वहां से जो रजिस्टर मिले है उनके मुताबिक ये ‘वेश्यालय’ साल 2020 से चल रहा था. चूकि ये पूरी तरह से गैर कानूनी रूप से चल रहा था, इसलिए वहां किसी तरह का रिकॉर्ड नहीं रखा गया।”

पुलिस का क्या कहना है?
इस पूरी घटना में मामला दर्ज करने से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए पुलिस अधीक्षक राठौड़ ने कहा, “हमने फार्म हाउस से छह नाबालिगों- चार लड़कों और दो लड़कियों को बचाया है. हमने इस मामले में शुरुआत में बाल यौन उत्पीड़न संरक्षण कानून अर्थात पोक्सो लगाया था. इस संदर्भ में बीते फरवरी में एक मामला दर्ज किया गया था.”

“क्योंकि एक बच्ची का वहां के एक कमरे में यौन उत्पीड़न किया गया था. बच्ची ने अदालत में अपना बयान भी दर्ज करवाया है. यह छापामारी अभियान उसी आधार पर शुरू किया गया था लेकिन बाद में वहां से जो चीजें मिली है उसके आधार पर पुलिस ने अनैतिक व्यापार (रोकथाम) अधिनियम, 1956 के तहत एक नया मामला (सं.105(07) 2022) भी दर्ज किया है.”

पुलिस की माने तो जिन नाबालिगों को फार्म हाउस से छुड़वा गया वे सभी गंदे केबिन जैसे अस्वच्छ कमरों के अंदर बंद पाए गए थे.

Advertisement

इस छापेमारी में पुलिस ने 27 वाहन, 30 हजार नकद, 500 पैकेट अप्रयुक्त गर्भनिरोधक अर्थात कंडोम और 400 शराब की बोतलें बरामद की है.

Advertisement

फिलहाल सभी बच्चों को सुरक्षित अभिरक्षा और कानून के तहत जिला बाल संरक्षण अधिकारी को सौंप दिया गया है. पुलिस ने छापेमारी के दौरान कई युवक और युवतियां बिना कपड़े के और शराब पीते हुए पाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button