play-sharp-fill
देश

3 करोड़ की डकैती डालने वाले बांग्लादेशी मिराज को पुलिस ने एनकाउंटर में पकड़ा….

Advertisement

दिल्ली पुलिस ने एक बांग्लादेशी डकैत को दिल्ली में एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार कर लिया है। कम से कम 5 डकैती केस में वांछित बदमाश मिराज पर 2 लाख रुपए का इनाम था। पकड़ा गया बदमाश पिछले साल करीब 3 करोड़ की हुई डकैती केस का भी मास्टरमाइंड था। शुक्रवार तड़के द्वारका के धुलसिरास गांव में एनकाउंटर में गोली लगने के बाद मिराज क्राइम ब्रान्च के हत्थे चढ़ गया।

Advertisement


मुठभेड़ के दौरान डकैत मिराज उर्फ मेहराज के पैर में गोली लगी है। पिछले साल अशोक विहार में हुई 3 करोड़ की डकैती केस में वह वांछित था। मिराज और उसके गुर्गों ने एक कारोबारी के घर लोगों को बंधकर बनाकर वारदात को अंजम दिया था। इस घटना के बाद से स्पेशल सेल, क्राइम ब्रान्च और नॉर्थवेस्ट दिल्ली की पुलिस की कई टीमें मिराज की तलाश में जुटीं थीं। यह भी माना जा रहा था कि मिराज गिरफ्तारी से बचने के लिए बांग्लादेश भाग चुका है। पुलिस ने उसके सिर पर 2 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था।

Advertisement

एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) संजय भाटिया ने कहा कि गुरुवार रात क्राइम ब्रान्च की पश्चिमी रेंज-II (WR-II) के सदस्यों को जानकारी मिली थी कि फरार मिराज द्वारका के धुलसिरास गांव में अपने गुर्गों के साथ आने वाला है। यह सूचना इंस्पेक्टर अक्षय कुमार को दी गई। सूचना की पुष्टि के बाद उन्होंने टीम बनाकर मिराज को दबोचने में सफलता पाई।

एडिशनल सीपी भाटिया ने बताया, ‘रात करीब 2:30 बजे टीम के सदस्यों ने इलाके में जाल बिछा दिया। करीब 15 मिनट बाद उन्होंने आरोपी को उसके सहयोगियों के साथ देखा। पुलिस ने उन्हें सरेंडर करने के लिए कहा। हालांकि, तभी मिराज ने पुलिस पार्टी पर दो राउंड फायरिंग कर दी। उसकी एक गोली इस्पेंक्टर अक्षय कुमार के बुलेटप्रूफ जैकेट पर लगी। मिराज के साथी शाहिद ने भी एक राउंड फायरिंग की जो हेड कांस्टेबल गौरव के करीब से गुजर गई। इंस्पेक्टर ने अपने बचाव में गोली चलाई। दूसरे पुलिसकर्मियों ने भी दो राउंड फायरिंग की। एक गोली मिराज के दाएं पैर में लगी और वह पकड़ा गया। इससे पहले कि शाहिद और फायरिंग करता पुलिसकर्मियों ने उसे भी दबोच लिया।’ उन्होंने बताया कि मिराज को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पकड़े गए अपराधियों से दो हथियार बरामद किए गए हैं। पुलिस पर फायरिंग को लेकर भी केस दर्ज किया गया है।

पिछले साल 7 मई को तड़के कम से कम 5 बदमाश हथियार के साथ अशोक विहार निवासी कारोबारी के घर घुस गए। कारोबारी अपने माता-पिता, पत्नी, बहन और बच्चों के साथ घर में अलग-अलग कमरों में सो रहे थे। बदमाशों के पास गन के अलावा चाकू और लोहे काटने वाले औजार थे। ग्राउंड फ्लोर पर कारोबारी का ऑफिस था। डकैत खिड़की के ग्रिल को काटकर घर में दाखिल हुए। पहले उन्होंने दफ्तर को खंगाला जहां कुछ नहीं मिला।

इसके बाद पहली मंजिल पर गए और परिवार के लोगों को जगाया। उन्होंने पूरे परिवार को बंधकर बनाया और तलाशी ली, लेकिन कुछ नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने कारोबारी को बैट से पीटा और कैश-जूलरी का पता लगा लिया। 1.38 करोड़ कैश और करीब 1.50 करोड़ की जूलरी के साथ फरार हो गए। जाते हुए उन्होंने परिवार को एक कमरे में बंद कर दिया। अपने साथ मोबाइल फोन, सीसीटीवी फुटेज का रिकॉर्डर भी साथ ले गए। पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू की और एक महीने बाद चार संदिग्धों को दबोचा। हालांकि मुख्य अभियुक्त मिराज फरार था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button