Uncategorized

धर्मांतरित महिला के शव दफनाने को लेकर फिर हुआ बवाल

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : छत्तीसगढ़ के बस्तर में धर्मांतरण के मामले ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया है। बुधवार को धर्मांतरित महिला की मौत के बाद उसके शव दफनाने को लेकर दो पक्षों के बीच बवाल हुआ है। जिसके बाद दरभा थाना इलाके के कड़मा गांव में तनातनी का माहौल बना हुआ है।

Advertisement

गांव वालों का कहना है कि, मृत महिला का परिवार ईसाई धर्म को मानता था। इसलिए गांव में शव दफनाने नहीं देंगे। यदि मृत महिला का परिवार मूल धर्म में लौटता है तो गांव में शव दफनाने जमीन दी जाएगी। फिर अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में गांव के लोग भी शामिल होंगे।

Advertisement

हालात को कंट्रोल करने के लिए भारी संख्या में पुलिस फोर्स की भी तैनाती की गई है। फिलहाल दोनों पक्षों के बीच बातचीत चल रही है। मामला दरभा थाना क्षेत्र का है।

दरअसल, जिले के बड़े कड़मा पंचायत के धुमागुड़मा पारा की रहने वाली महिला बुधरी (38) की किसी गंभीर बीमारी के चलते 12 सितंबर की शाम मौत हो गई। आज बुधवार 13 सितंबर की सुबह परिवार के सदस्य गांव में ही शव को दफनाने वाले थे। जिसकी जानकारी ग्रामीणों को मिली। फिर बुधवार सुबह गांव के लोग मृत महिला के घर के बाहर इकट्ठा हो गए।

शव दफनाने जमीन देने से इनकार

गांव के ग्रामीणों ने शव दफनाने के लिए गांव में जमीन देने से मना कर दिया था। इसे लेकर धर्मांतरित परिवार के सदस्यों और गांव वालों के बीच बवाल भी हुआ। ऐसा बताया जा रहा है कि, इसी बात को लेकर कुछ लोगों के बीच मारपीट की भी स्थिति बनी थी।

सुरक्षा बल तैनात

Advertisement

विवाद की जानकारी पुलिस को मिली जिसके बाद SDOP ऐश्वर्य चंद्राकर समेत दरभा , परपा और कोडेनार इन तीनों थाना के जवानों को मौके पर तैनात किया गया। फिलहाल पुलिस ने स्थिति को किसी तरह से कंट्रोल में कर रखा है। फोर्स की मौजूदगी में दोनों पक्षों के लोग आपस में बातचीत कर रहे हैं। जब तक मामला शांत नहीं हो जाता तब तक बाहरी लोगों को भी गांव में घुसने नहीं दिया जा रहा है।

Advertisement

उप सरपंच बोले- मूल धर्म में लौटने हामी भरे हैं
गांव के उपसरपंच महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि, धर्मांतरित परिवार के सदस्यों से हमारी बातचीत हुई है। 2 परिवार मूल धर्म में लौटने के लिए हामी भरे हैं। जब ये दोनों परिवार मूल धर्म में लौटेंगे तभी मृत महिला के शव को दफनाने जमीन देंगे। फिलहाल दोनों पक्षों के बीच अभी बातचीत चल रही है। उन्होंने बताया कि, इस गांव की जनसंख्या करीब 900 की है। गांव के 10 से 12 परिवार ने ईसाई धर्म को अपना लिया है।

अफसर बोले – स्थिति कंट्रोल में है
दरभा तहसीलदार चित्रसेन साहू ने कहा कि, गांव वालों से बातचीत कर, सभी की सहमति के बाद शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। SDOP ऐश्वर्य चंद्राकर ने कहा कि, हमें इस मामले की जानकारी मिली तो मौके पर पहुंचे। मामला शांत है। स्थिति कंट्रोल में। पुलिस बल तैनात किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button