छत्तीसगढ़

राशन गबन के मामले में आक्रोशित ग्रामवासियों ने घेरा तहसील कार्यालय

(मुन्ना पाण्डेय) : लखनपुर -(सरगुजा) जंप क्षेत्र के ग्राम पंचायत इरगवा राशन दुकान में हुये खाद्यान्न वितरण  गड़बडी का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा। इसी फेहरिस्त में आक्रोशित ग्रामवासियों ने 21 दिसम्बर दिन बुधवार को तहसील कार्यालय का घेराव करते हुए अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के नाम आठ बिन्दुओं पर आधारित जांच कारवाही  किये जाने  लिखित शिकायत तहसीलदार गरिमा ठाकुर को  सौंपा है। 

Advertisement

काबिले गौर है कि ग्रामवासियों ने इसी मामले पर पूर्व में चार मर्तबा उच्चाधिकारियों के नाम ज्ञापन सौंप चुके हैं।  ग्रामीणो का आरोप है कि खादय निरिक्षक शैलेंद्र एक्का एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूर्णिमा सिंह के मिली भगत से  शासकीय उचित मूल्य दुकान (सोसायटी) का  व्यवस्था चरमरा गई है। सोसायटी में कार्डधारकों का चावल तकरीबन दो सौ किविविन्टल गबन किया गया है। जिसके जांच के लिए पूर्व में जिला कलेक्टर तथा अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंपा जा चुका है।  चार मर्तबा सौंपे  गये ज्ञापन के बावजूद भी जांच मुकम्मल नहीं हो सकी है। हताश परेशान उग्र ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय का घेराव ही नहीं किया अपितु   तहसील कार्यालय के मुख्य द्वार के सामने बैठकर धरना प्रदर्शन करते हुए राशन दुकान संचालक एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूर्णिमा सिंह के खिलाफ जोरदार नारे बाजी  करते हुए कार्यवाही किये जाने मांग किया ।

Advertisement

काफी मशक्कत के बाद तहसीलदार गरिमा ठाकुर नायब तहसीलदार आई0 सी0 यादव द्वारा निष्पक्ष सुक्ष्म जांच कराते हुए दोषी व्यक्तियों दुकान संचालिका आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं खाद्य निरीक्षक के उपर 10  दिवस के भीतर आगामी 30 दिसम्बर तक नियमानुसार कार्यवाही कराने आश्वासन दिया गया तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। दरअसल खाद्यान्न वितरण गड़बडी को लेकर ग्राम इरगवा शासकीय उचित मूल्य दुकान सुर्खियों में रहा है। ग्रामीणों का बताना है कि माह अक्टूबर नवम्बर में केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ाया गया बोनस चावल का वितरण कार्डधारकों को दुकान संचालक पूर्णिमा सिंह द्वारा नहीं किया गया।

Advertisement

जबकि राशनकार्ड में पूरा चावल चढ़ाया गया है।जिसकी शिकायत पहले सरगुजा कलेक्टर एवं एसडीएम के समक्ष किया गया था कोई कार्यवाही नहीं होने की सूरत में ग्रामवासियों ने राशन दुकान में तालाबंदी कर  दिया था।  तथा सेवक सिंह पोर्ते के जरिए से सोसायटी संचालन के लिए ग्रामवासियों ने बोला था परन्तु सेवक सिंह पोर्ते के नहीं आने कारण राशन दुकान में ताला लगा दिया गया था।

तब कहीं जाकर तहसीलदार एवं खादय निरिक्षक  मौका जांच कर ग्राम सरपंच पंचों को माह नवंबर का खाद्यान्न वितरण करने कहा गया था  जिसमें 386 हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण की गई थी बाद इसके के 55 कार्ड धारियों को खाद्यान्न वितरण नहीं हो पाया इसका वजह था राशन की कमी। और आज पर्यन्त उन 55  हितग्राहियों को खाद्यान्न नहीं मिल पाया है। ग्राम वासियों द्वारा लिखित शिकायत देने के बाद भी अनाधिकृत तरीके  से  खाद्य निरीक्षक के सह पर शासकीय उचित मूल्य दुकान में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा राशन वितरण किये जाने तथा माह दिसम्बर का राशन नहीं मिलने से आक्रोशित ग्रामवासियों ने 8  बिंदुओं पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के नाम लिखित शिकायत तहसीलदार  गरिमा ठाकुर को  सौंपा है।

यदि बिन्दुओं की जिक्र की जाए तो ग्रामीणों का कहना है- गलत ढंग से उचित मूल्य दुकान में माह के अंत में राशन वितरण किया जाता है  दूसरा बिंदु खाद्य सामग्री पात्रता अनुसार कार्ड धारियों को प्रदाय नहीं किया जाता। तीसरा बिंदु खाद्य सामग्री कार्ड धारियों को कम मात्रा में प्रदाय की जाती है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उर्फ दुकान संचालिका कार्ड उपभोक्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार करती है। वही चौथा बिंदु समिति के सदस्यों को अपने सदस्यता की जानकारी नहीं है। पांचवा बिंदु राशन कार्ड हितग्राहियों को कम चावल दिया जाता है, परंतु कार्ड में अधिक दर्शाया जाता है। छठवां बिंदु राशन दुकान संचालक  आंगनवाड़ी कार्यकर्ता है तथा समिति की सदस्य भी नहीं है। सातवां बिंदु राशन का वितरण हर माह के 7 तारीख से किया जाए। 

अंतिम बिंदु माह दिसंबर का चावल का भंडारण राशन दुकान में हो चुका है परन्तु पिछले गबन किये गये चावल का भरपाई करने के फिराक में  ग्राम के कार्डधारियों को गोलमोल जवाब दिया जा रहा है उसमें सुधार हो और कार्ड धारियों को राशन मिले।  ग्रामवासियों ने खाद्य निरीक्षक  को तत्काल हटाये जाने की भी मांग किया है। यदि समय सीमा के भीतर जांच प्रक्रिया मुकम्मल नहीं हुई तो धरना प्रदर्शन के साथ चक्का जाम करने का भी ऐलान ग्राम वासियों ने किया है। ज्ञापन सौंपने सैकड़ों के तादाद में महिला पुरुष ग्रामवासी तहसील कार्यालय पहुंचे जिसमें मुख्य रूप से चन्द्रीका यादव, राधेश्याम ठाकुर, इन्द्र देव भगत, लवेश सिंह, रामलाल मरावी, जय ईश्वर सिंह, रामचरण मरावी रामलाल मरावी सुखनाथ यादव कलम साय टेकाम सहित  तमाम ग्रामवासी मौजूद रहे।


इस पूरे मामले में ग्रामीणो के पूर्व पेश ज्ञापन के आधार पर
खादय निरिक्षक शैलेंद्र एक्का द्वारा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया जिसमें अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) ने ग्राम सरपंच प्रह्लाद सिंह सचिव रामसूरित पूर्व सरपंच जय ईश्वर  सिंह टेकाम पूर्व सचिव मुन्ना राम तथा तत्कालीन विक्रेता रामभरोस को राशन दुकान में चावल चना शक्कर नमक मे कुल राशि  5.14.905.62 रूपये अपयोजन किये जाने के आधार पर  स्पष्टीकरण के लिए 21 दिसम्बर को तलब किया था। इस बात से भी ग्रामवासी खफा रहे।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button