बिलासपुर

मजदूरों के हक में एटक का बड़ा आंदोलन, कहा – एसईसीएल में अंधेरगर्दी….

Advertisement

Advertisement

(दिलीप जगवानी) : बिलासपुर – कोयला मजदूरों की समस्याओं और मांगों का निराकरण करने एटक ने सोमवार को एसईसीएल मुख्यालय के पास बड़ा आंदोलन किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष की मौजूदगी में हुए धरना प्रदर्शन मे हजारों मजदूर शामिल हुए। संयुक्त कोयला मजदूर संघ ने एसईसीएल प्रबंधन पर अंधेरगर्दी का आरोप लगाया है।

Advertisement

एटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद कामरेड रमेद्र कुमार के नेतृत्व में संयुक्त संघ ने कोयला मजदूरों के हित में आवाज बुलंद की। राष्ट्रीय महामंत्री हरिद्वार सिंह ने कहा एसईसीएलऔर ठेकेदार आपस मे सांठगांठ कर मजदूरो का अर्थिक शोषण कर रहे हैं। कोयला मजदूरों का 11 वां वेतन समझौता 5 बैठकों के बाद भी बेनतीजा है। उनका कहना हैं मेन पावर बजट के अनुसार उनका प्रमोशन नहीं दिया जा रहा है। प्रबंधन से लेकर खदान तक अंधेर गर्दी चल रही है।

सभा को संबोधित कर रहे राष्ट्रीय नेताओं ने खदानों में पर्याप्त हवा पीने का पानी और बिजली नहीं होने पर कड़ी आपत्ति जताई हैं उन्होंने आरोप लगाया हैं कि एसईसीएल का निजीकरण करने के इरादे से मजदूरों का पीएफ नहीं काटा जा रहा है चार लेबर लॉ लाकर ट्रेड यूनियन बनाने का कानून खत्म कर दिया प्रबंधन को सारे अधिकार दे दिए गए अप्रेंटिस एक्ट खत्म कर मनमाने तरीके से काम किया जा रहा है।

एटा की राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद कामरेड रविंद्र कुमार राष्ट्रीय महामंत्री हरिद्वार से संयुक्त संघ के सचिव विजय मुदलियार और मजदूर यूनियन के पदाधिकारियों ने एसईसीएल प्रबंधन को मजदूर हितों की अनदेखी बंद करने कहा हैं इसके लिए संयुक्त कोयला मजदूर संघ ने काम बंद करने चेताया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button