छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के इन जिलों में आँधी, बारिश की संभावना..

Advertisement

(भूपेंद्र सिंह राठौर) : दक्षिण पश्चिम मानसून अरब सागर के मध्य भाग, लक्षद्वीप के शेष भाग और केरल के शेष भाग, तमिलनाडु, कर्नाटक के कुछ भाग, रायल सीमा और आंध्र
प्रदेश दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के बचे हुए भाग, मध्य और उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी के कुछ और भाग में पहुंच चुका है।

Advertisement

मानसून के उत्तर सीमा बेंगलुरू, चित्रदुर्गा, नेल्लौर और इस्लामपुर है। मानसून को आगे बढ़ने के लिए अनुकूल परिस्थितियों बनी हुई।

Advertisement

एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर 3.1 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है तथा यह दक्षिण पश्चिम की ओर ऊंचाई के साथ झुका हुआ है।

एक चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी और उससे लगे दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी आंध्र प्रदेश तथा तटीय तमिलनाडु के ऊपर 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है।

एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है।

प्रदेश में कल दिनांक 3 जून को कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छीटे पड़ने की संभावना है।

प्रदेश में एक दो स्थानों पर गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा वज्रपात होने की भी संभावना है।

प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामले गिरावट संभावित है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button