play-sharp-fill
देश

महाकाल मंदिर में अब नहीं ले पाएंगे मोबाइल,मंदिर प्रशासन हुआ सख्त..

Advertisement

उज्जैन :  महाकालेश्वर मंदिर में होली पर हुए अग्निकांड के बाद मंदिर प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के लिए कठोर कदम उठाए हैं। भस्म आरती के दौरान गर्भगृह में पुजारियों की संख्या को समित कर दिया गया है। साथ ही पंडे, पुजारी तथा सेवकों के अनावश्यक रूप से मंदिर में घूमने पर रोक लगा दी गई है।

Advertisement


श्रद्धालुओं का मंदिर में मोबाइल लेकर प्रवेश करना भी प्रतिबंधित किया गया है। मंदिर प्रशासक मृणाल मीना ने बताया महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं में सुधार के लिए महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति तथा जिला प्रशासन द्वारा संयुक्त द्वार से कार्रवाई की जा रही है।

Advertisement

इसके तहत भस्म आरती के समय गर्भगृह में पुजारियों की संख्या को सीमित कर दिया गया है। अनावश्यक पंडा, पुजारी और सेवकों का प्रवेश भी प्रतिबंधित किया गया है।

भस्म आरती दर्शन करने आने वाले दर्शनार्थियों को भी जांच पड़ताल के उपरांत ही मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। श्रद्धालुओं के मोबाइल लेकर आने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। इलेक्ट्रानिक उपकरण सहित अन्य संवेदनशील उपकरण जिनसे दुर्घटना की आशंका होती है, उन्हें अलग रखवाने के लिए काउंटर बनाए जा रहे हैं। यह निर्देश भी

-भस्म आरती के नाम पर श्रद्धालुओं से रुपये लेने वालों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई सुनिश्चित कराई जा रही है।

-भस्म आरती के दौरान पहले लोग नंदीजी के सामने गेट तक बैठते थे। अब भक्तों को नंदीजी के पीछे से बैठाया जा रहा है। इससे आपात स्थिति में नगाड़ा गेट से नंदी हाल के रैंप तक आवागमन अवरुद्ध नहीं होगा।

-गर्मी को दृष्टिगत रखते हुए मंदिर के द्वार से मंदिर तक छांव तथा कारपेट बिछाने की व्यवस्था की गई है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button