play-sharp-fill
बिलासपुर

सीएमडी कॉलेज में एडमिशन से पहले सीटों की बिक्री! प्रवेश के लिए वसूली जा रही 1000 रु. फीस

Advertisement

बिलासपुर – संभाग के सबसे बड़े कॉलेज सीएम दुबे पीजी महाविद्यालय में एडमिशन के लिए लिस्ट निकलने से पहले ही सीटों की बिक्री शुरू हो गई है। यह बिक्री बाजारी में नहीं, बल्कि कॉलेज में ही हो रही है। कॉलेज के कर्मचारी दावे के साथ कह रहे हैं कि यहां प्रवेश चाहिए तो पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए 1000 रुपए लगेंगे। रसीद कटते ही सीट बुक हो जाएगी। यानी कि प्रवेश मिलने की गारंटी। जबकि अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी प्रशासन के नियम के अनुसार स्टूडेंट्स प्रवेश के लिए यूनिवर्सिटी की पोर्टल में ही पंजीयन करा सकते हैं। इसके लिए महज 100 रुपए शुल्क लगेगा।

Advertisement

कॉलेजों में एडमिशन के लिए अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी ने पोर्टल खोल रखी है। यह पोर्टल 18 जून से ओपन हुई है और 2 जुलाई की रात 12 बजे तक चालू रही। कॉलोजों में एडमिशन के लिए यूनिवर्सिटी में पोर्टल में रजिस्ट्रेशन के नियम बनाए गए हैं। इसके लिए बकायदा 1०० रुपए ऑनलाइन शुल्क निर्धारित है। पोर्टल में रजिस्ट्रेशन के बाद कक्षाओं में एडमिशन के लिए सूची जारी की जाएगी और प्रावीण्यता सूची में वरीयता के आधार पर ही कॉलेजों में विद्यार्थियों को एडमिशन दिया जाएगा। इस नियम को सीएमडी कॉलेज प्रबंधन ने दरकिनार कर दिया है और खुलेआम कक्षाओं में एडमिशन देने से पहले 1००० रुपए रजिस्ट्रेशन शुल्क रसीद काटी जा रही है। इतना ही नहीं 3 जुलाई को जारी होने वाली पहली सूची से पहले रजिस्ट्रेशन कराने के साथ शिक्षण शुल्क जमा कर देने पर बिना सूची में नाम आए एडमिशन होने के दावे भी किए जा रहे हैं।

Advertisement

मंगलवार को ‘लोकस्वर’ की टीम सीएमडी कॉलेज पहुंची तो यहां रजिस्ट्रेशन के नाम पर 1००० रुपए नकद वसूल करने और छात्रों को बकायदा रसीद देने का ख्ोल चल रहा था। रजिस्ट्रेशन की जिम्मेदारी संभालने वाले कर्मचारियों से हमने रिकॉर्डेड बातचीत की, जिसकी वीडियो रिकॉर्डिंग हमारे पास है।

सीधी बातचीत

कॉलेज कर्मचारी
सवाल- एमएम हिंदी साहित्य में एडमिशन चाहिए था?
जवाब- क्या नाम है।
सवाल- फीस कितनी है?
जवाब- 11 हजार रुपए एक साल का।
सवाल- बीए प्रीवियस और फाइनल इयर की फीस?
जवाब- 1० हजार रुपए ।
सवाल- दूसरे कॉलेज से छात्र को एडमिशन लेना है, हो जाएगा?
जवाब- जी… हो जाएगा।
सवाल- एडमिशन के बाद लिस्ट में नाम नहीं आने पर कोई दिक्कत तो नहीं होगी?
जवाब- इसके लिए आपको यहां रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
सवाल- बाद में कोई परेशानी तो नहीं होगी?
जवाब- रजिस्ट्रेशन के बाद आपकी सीट बुक हो जाएगी।
सवाल- छात्र रेगुलर हैं और नियमित छात्र के रूप में एडमिशन चाहिए?
जवाब- हो जाएगा, इसके लिए कोई बड़ी बात नहीं है।
सवाल- इसके लिए कोई अलग से प्रक्रिया है?
जवाब- सिर्फ रजिस्ट्रेशन कराना होगा और एडमिशन हो जाएगा।
सवाल- बाद में कोई परेशानी तो नहीं होगी?
जवाब- पहले 1००० रुपए जमा कर रजिस्टेàशन कराना जरूरी है।
सवाल- कल आ जाएं तो चलेगा?
जवाब- आज ही रजिस्ट्रेशन करा लीजिए तो एडमिशन हो जाएगा।

सीधी बात
संजय सिंह
प्राचार्य, सीएम दुबे कॉलेज
रिपोर्टर- आपके कॉलेज में एडमिशन ओपन हो गए हैं?
जवाब- नहीं, अभी कहां हुए हैं। कल लिस्ट निकलेगी।
रिपोर्टर- आपके कॉलेज में यूजी के लिए 1० और पीजी के लिए 11 हजार रुपए शुल्क की जानकारी दी गई है?
जवाब- पीजी अभी तो चालू ही नहीं हुआ है
रिपोर्टर- एक हजार रुपए देकर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद एडमिशन पक्का होने की जानकारी दी गई?
जवाब- यह बात आपको किसने कही।
रिपोर्टर- कॉलेज कैंपस में सामने एडमिशन के लिए बैठे कर्मचारियों ने यह बात कही है?
जवाब- यह पता करना पड़ेगा कि यह किसने कहा।
रिपोर्टर- आपके स्टॉफ द्बारा बताई गई सारी बातों की वीडियो रिकॉर्डिंग हमारे पास है?
जवाब- ठीक है… आप रखिए, कोई दिक्कत नहीं है।
रिपोर्टर- ऐसा कैसे संभव है कि बिना लिस्ट निकले एडमिशन हो रहे हैं?
जवाब- कल मेरिट लिस्ट निकलेगी और इसके बाद मैं अधिकारिक बयान दे पाऊंगा।
रिपोर्टर- एडमिशन के लिए एक हजार रुपए किस बात के लिए वसूल किए जा रहे हैं?
जवाब- आप मेरे पास आते तो समस्या नहीं होती।
रिपोर्टर- एक हजार रुपए की रसीद भी हमारे पास उपलब्ध है?

जवाब- आप मुझे रसीद भेज दीजिए… इसके बाद मैं देखता हूं।
रिपोर्टर- 1००० रुपए शुल्क वसूलना लीगल है या अनलीगल?

जवाब- देखिए… रजिस्ट्रेशन चार्ज हर कॉलेज में लिया जाता है।
रिपोर्टर- आखिर विद्यार्थियों से किस बात के लिए रजिस्ट्रेशन शुल्क लिया जा रहा है?
जवाब- जब कल ऑफिस आएंगे तो ही मैं ही दे पाऊंगा, आप फोन पर मत लीजिए।

Advertisement

शैलेंद्र दुबे कुलसचिव, अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी ने ने कहा : रजिस्ट्रेशन के लिए यूनिवर्सिटी की पोर्टल खुली हुई है और इसके लिए 1०० रुपए शुल्क निर्धारित है। सीएमडी कॉलेज में एडमिशन के नाम पर 1००० रुपए शुल्क वसूल करने की जानकारी नहीं है। यदि ऐसा किया जा रहा है तो यह गंभीर मामला है। इसकी जांच कराई जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button