बिलासपुर

प्रभार में कार्यरत जॉइंट डायरेक्टर कर रहे नियुक्ति, पदोन्नति, ट्रांसफर व संलग्नीकरण….हुई शिकायत

(जयेन्द्र गोले) : बिलासपुर – प्रभार में कार्यरत JD बिलासपुर जिन्हे शासन द्वारा वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार नही दिया गया है, द्वारा चालू कार्य प्रभार में कार्यरत JD बिलासपुर जिन्हे शासन द्वारा वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार नही दिया गया है द्वारा सारे नियम को ताक में रख – ANM से SN के पद पर प्रमोशन किया गया, 5 कनिष्ठ सहायक ग्रेड 3 को सहायक ग्रेड 2 में पदोन्नत किया गया , सीधी भर्ती के विभिन्न पदों की( रेडियोग्राफर,नेत्र सहायक अधिकारी,ओ टी तकनिशियन,रेफ्रिजरेटर मेकेनिक, साईकेट्रीक नर्स) की प्रतिक्षा सूची जारी किया गया,बिना अधिकार के निलंबित कर्मचारी को आरोप पत्र,अभिकथन पत्र जारी किया गया ,8 -10 अधिकारी कर्मचारियों का संलग्नीकरण किया गया।

Advertisement

राज्य मानसिक चिकित्सालय के किसी भी चिकित्सक,कर्मचारी का अन्य संस्थाओं में संलग्न नही किए जाने के विपरीत डॉक्टर सुमन आर्या(पत्नी) को jd कार्यालय के लिए सनलग्निकरण आदेश जारी कर संभागीय कार्यालय में संभागीय कार्यक्रम अधिकारी एवं प्रभारी स्थापना अधिकारी का कार्य लिया जा रहा है ।साथ ही पूर्व jd द्वारा पदोन्नति आदेश जारी कर समय बीत जाने उपरांत जिनकी पदोन्नति आदेश स्वमेव निरस्त हो गया था।समय बीत जाने उपरांत ऐसे 20 से 25 कर्मचारियों का संशोधन आदेश जारी कर पदोन्नति का लाभ दिया गया था जिसके कारण अन्य कर्मचारी जिन्हे पदोन्नति का लाभ मिलना था ,पदोन्नति के लाभ से वंचित हो गए थे जिनके द्वारा लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए संशोधन आदेश निरस्त करने की मांग की गई थी । ऐसे आदेशों को भी निरस्त नही किया गया।

Advertisement


सुपरवाइजर से beto पद पर भी सारे नियमों को ताक में रख कर अधिकार न होते हुए भी पदोन्नति लिस्ट तैयार किए जाने की सूचना भी मिली है ।इन सब प्रकरणों में लें देन की बात भी सामने आ रही है।

Advertisement


संघ प्रमाणित दस्तावेजों के साथ अपर मुख्य सचिव, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं को शिकायत पत्र प्रस्तुत कर चालू कार्य प्रभार में बिना वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार के joint director को तत्काल पद से हटाते हुए इनके पूरे कार्यकाल में किए गए कार्यों की उच्च स्तरीय जांच कमेटी से जांच की मांग की गई है

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button