play-sharp-fill
बिलासपुर

EXCLUSIVE : लूट की घटना को अंजाम देते 2 लोगों को पुलिस ने पकड़ा, उनमें से हाथ छुड़ाकर भागे 1 व्यक्ति की मिली लाश, पेट्रोलिंग आरक्षक की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल….! पुलिस कर रही मामले की जांच

Advertisement

(भूपेंद्र सिंह राठौर के साथ राजा खान) : बिलासपुर में एक युवक की संदिग्ध हालत में लाश मिली है। आरोप है कि युवक की जान पुलिस की पिटाई से गयी है। परिजन और दोस्तों ने हत्या की आशंका जताई है। शरीर में कई जगह गंभीर चोट के निशान हैं। पुलिस इस मामले मे कुछ और ही कहानी बता रही है।

Advertisement

कोनी क्षेत्र के लोखंडी स्थित ओवरब्रिज के पास एक युवक की लाश मिली है। युवक के एक साथी को पुलिस ने शुक्रवार की रात लूट प्रयास के मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि युवक अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला था। वहीं, उसके दोस्त पुलिस पर मारपीट कर हत्या का आरोप लगा रहे हैं। पुलिस के अनुसार शुक्रवार की रात को तुर्काडीह के पास 2 लोगों ने लूट की घटना को अंजाम देने की कोशिश की, पर जैसे ही इसकी जानकारी पेट्रोलिंग को लगी, तत्काल मौके पर पहुँचकर पुलिस ने 2 लोगो को पकड़ा जिसमे से 1 व्यक्ति हाथ छुड़ाकर भागने में सफल हो गया, जब सुबह आकर घटना स्थल पर जांच की गई तो थोड़ी दूर में ही उस व्यक्ति की लाश मिली।

Advertisement
बाईट – सिद्धार्थ बघेल (सीएसपी)

मृतक का नाम रोशन धुव्र हैं,जो अशोक नगर सरकंडा का निवासी हैं। युवक के दोस्त विष्णु साहू ने बताया कि वह अपने दोस्त रोशन और अजरंग साहू के साथ घूमने गया था। तीनों रात 10 बजे तक साथ थे। दोनों रोशन को घर छोड़कर चले गए। शनिवार सुबह पुलिस का ड्राइवर आया। उसने बताया कि रोशन की मौत हो गई है। जब सुबह 9 बजे वहां पहुंचे, तो लाश पड़ी थी। शरीर में जगह-जगह चोट के निशान हैं।

पुलिस का कहना है कि लोखंडी ओवर ब्रिज के पास 2 मोटरसाइकिल में सवार चार अज्ञात लोग एक स्वराज माजदा के ड्राइवर और हेल्पर को डरा धमका कर लूट की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान कोनी पुलिस पेट्रोलिंग पर थी। अंधेरे में एक युवक को पकड़ लिया गया। वहीं, उसका दोस्त खेत में उतरकर भाग गया। सुबह पता चला कि उसकी मौत हो गई है। पुलिस का दावा है कि एक आरोपी हिरासत में है। एक शराब के नशे में भाग गया, जिसकी जांच हो रही है। बताया जा रहा है कि जिस गाड़ी में लूटपाट बताई जा रही है, वह गाड़ी तीन दिन से खराब पड़ी है।

इस घटना के बाद से कोनी पुलिस व पेट्रोलिंग कर रहे जवानों पर कई सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।
वही दूसरी और परिजनों ने सिम्स मर्चुरी में निष्पक्ष जांच और दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा कर दिया। अधिकारियों की समझाइश के बाद भीड़ शांत हुईं। अब देखना है कि पुलिस के अधिकारी इस मामले में पेट्रोलिंग टीम के जवानों को बचाती है या मृतक को न्याय दिलाती है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button