• lokswarad_3
  • lokswarad_5
  • lokswarad_2
  • bootstrap carousel example
  • lokswarad_4
jquery slideshow by WOWSlider.com v9.0
देश

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक में जाट नेताओं ने क्या-क्या रखी मांग..?

(शशि कोन्हेर) : नई दिल्ली – केंद्रीय गृह मंत्री के साथ जाट नेताओं की बैठक समाप्त हो गई है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने की मांग रखी गई है। साथ ही जाटों के लिए आरक्षण के साथ केंद्र और यूपी सरकार में प्रतिनिधित्व की मांग भी उठाई है। इन मुद्दों पर गृह मंत्री ने सकारात्मक प्रतिक्रिया भी दी है। विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पार्टी की चुनावी संभावनाओं को मजबूत करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज 100 जाट नेताओं के साथ मुलाकात की। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और सांसद परवेश वर्मा भी मौजूद रहे। 2014 के चुनाव के समय से ही भाजपा को जाटों का भरपूर समर्थन मिलता रहा है और इसकी वजह से पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में शानदार प्रदर्शन करती रही है, लेकिन तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के कारण इस समुदाय में पार्टी को लेकर नाराजगी है।

जाट नेताओं को नाराजगी दूर करने का जिम्मेदारी

तीन कृषि कानूनों को लेकर जाट समुदाय की नाराजगी दूर करने के लिए भाजपा ने केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान समेत सभी जाट नेताओं को किसानों के बीच उतारा। पश्चिम उत्तर प्रदेश में पार्टी का चुनावी मैदान बनाने में लगे रणनीतिकार इस मुलाकात को बेहद अहम मान रहे हैं। इसे जाटों को साधने की दिशा में बीजेपी का मास्टर स्ट्रोक कहा जा रहा है। साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रालोद और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन होने से बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी होने की आशंका है। रालोद ने क्षेत्र में जाटों के बीच खोई जमीन पाने के लिए लंबा होमवर्क किया है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button