कोरबा

नगर और क्षेत्र की समस्याओं पर सीएम भूपेश बघेल से होगी चर्चा, सम्भावित दौरे को लेकर उत्साहित है पाली ब्लॉक की जनता….

Advertisement

(कमल वैष्णव) : पाली/कोरबा – प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल के भावी दौरे को लेकर क्षेत्रीय जन और जनप्रतिनिधि भी अपनी तैयारियों में जुटे हैं और नगर तथा क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को मुख्यमंत्री से अवगत कराकर त्वरित निराकरण की मांग करेंगे।

Advertisement


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अपने भेंट मुलाकात अभियान के तहत कोरबा जिले के पाली विखं में भी पहुंचने की संभावना है। इसके मद्देनजर नगर एवं क्षेत्र की समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षण कराने तैयारी की जा रही है। नगर पंचायत पाली में ही मुख्य सड़क मार्ग में ठेकेदार की लापरवाही से नाली जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो गया है इसके लिए लोक निर्माण विभाग को कई बार लिखित व मौखिक तौर पर शिकायत की गई है, लेकिन अब तक सुधार मरम्मत नहीं हुआ है। बरसात में बरसाती पानी की निकासी के लिए बड़ी समस्या हो सकती है। वहीं नगर की जल आवर्धन योजना पर विगत 3-4 वर्षं से कार्य चल रहा है लेकिन अब तक पूरा नहीं हो पाया है। नगर की सभी वार्डों के सड़कों को जगह जगह खोद दिया गया है जिससे आवागमन में परेशानी हो रही है।

Advertisement

पीएचई विभाग के उच्चाधिकारियों की उदासीनता और ठेकेदार की लेटलतीफी,मनमानी से नगरवासी त्रस्त हैं। गड्ढों की मरम्मत नहीं करने से आए दिन दुर्घटनाएं भी हो रही है वही जल आवर्धन योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्षेत्र की जनता स्वास्थ्य सुविधाओं की पूर्ति करने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आश्रित है। जहां संसाधन उपलब्ध हैं लेकिन विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी बनी हुई है। रेडियोलॉजिस्ट, जिमखाना ट्रेनर, फिजियोथैरेपिस्ट, शिशु रोग विशेषज्ञ सहित कई अन्य सुविधाओं की दरकार है। पाली ब्लॉक के एकलव्य आवासीय विद्यालय और सिविल कोर्ट के लिए शासकीय भूमि नहीं मिलने से दोनों महत्वपूर्ण कार्य अधर में लटके हैं। जिले के धार्मिक पर्यटन स्थल चैतुरगढ़ मे माता के मंदिर तक पहुंचने के लिए गत बरसात में क्षतिग्रस्त रैम्प का सुधार अब तक नहीं हो पाया है। इधर निर्माणाधीन सड़कों के मुआवजा प्रकरण लंबित है। क्षेत्र में सिंचाई सुविधाओं का अभाव है। पाली ब्लॉक में कई दशक से बिजली की समस्या गंभीर है ।सरायपाली ओपन कास्ट कोल परियोजना के पुनर्वास,मुआवजा और रोजगार के मामले सहित खबर है कि ग्रामीण कई भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी मे लिप्त अधिकारी कर्मचारियों की शिकायत भी करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button