play-sharp-fill
छत्तीसगढ़

एसएसपी रायपुर ने गौ तस्कर व महादेव एप पर कार्यवाही और चिटफंड के पेंडिंग प्रकरणों में तेजी लाने के दिये निर्देश

Advertisement

(आशीष मौर्य) : रायपुर – सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह द्वारा सिविल लाईन स्थित सी-4 भवन के सभाकक्ष में रायपुर जिले के समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की क्राइम की समीक्षा बैठक ली गई।

Advertisement

बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा छोटी-छोटी घटनाओं एवं कानून व्यवस्था को गंभीरता से लेते हुए लापरवाही न बरतते हुए उस पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये जिससे कोई भी छोटी घटना बड़ी रूप न ले सके।

Advertisement

गौ तस्करों के खिलाफ विधिसम्मत कड़ी कार्यवाही,
महादेव एप और चिटफंड के पेंडिंग प्रकरणों में विवेचना में तेजी करने और तेज आवाज के डीजे पर कार्यवाही का निर्देश दिया।

इसके साथ ही नशे के पदार्थो के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने तथा किसी भी सूरत में किसी प्रकार का कोई भी नशे का सामान नहीं बिकने के सख्त निर्देश देने के साथ ही नशे के सामग्रियों को पकड़ने के दौरान उसके अंतिम सप्लाई चैन व आरोपियों की तस्दीक करने कहा गया।

आपरेशन निजात के तहत नशे के विरूद्ध और भी प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। अवैध रूप से शराब की बिक्री/भण्डारण/परिवहन करने वालों पर कार्यवाही कर इस पर पूर्णतः अंकुश लगाने कहा गया।

लंबित अपराध, मर्ग एवं गुम इंसान के प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण करने, गुम इंसानों को विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से भी दस्तयाब करने, लंबे समय से लंबित शिकायत पत्रों का 15 दिवस के भीतर अनिवार्य रूप से निराकरण करने सहित वरिष्ठ कार्यालय से प्राप्त शिकायत पत्रों का भी जल्द से जल्द निराकरण करने के निर्देश दिये गये।

जिन थानों में अत्यधिक शिकायत लंबित है, उन थाना प्रभारियांें को जल्द से जल्द शिकायतों को निराकृत करने संबंधी चेतावनी भी दी गई। महिला/बच्चों से संबंधित अपराधों की रोकथाम, महिला/बच्चों से संबंधित अपराधों में त्वरित कार्यवाही तथा आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिये गये।

धोखाधड़ी सहित अन्य संपत्ति संबंधी मामलों में थाना प्रभारियों को विशेष रूचि लेकर आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिये गये। गंभीर मामलों की विवेचना स्वयं थाना प्रभारियों को करने, साईबर संबंधी मामलों में हर संभव कार्यवाही कर पीड़ित को त्वरित राहत देने के निर्देश दिये गये।

Advertisement

इसके साथ ही विजिबल पुलिसिंग पर जोर देने, असामाजिक तत्वों, निगरानी गुण्डा, बदमाशों एवं पुराने अपराधियों की गतिविधियों पर निगाह रख कर समय – समय पर विशेष अभियान चलाकर इनकी चेकिंग करने कहा गया।

पुराने गुण्डा/बदमाश जो अपराधों से दूर रहकर सामान्य जीवन व्यतीत कर रहे है, उन्हें माफी सूची में लाने तथा सक्रिय बदमाशों व असामाजिक तत्वों जो लगातार अपराधों में संलिप्त रहते है, ऐसे लोगों के विरूद्ध गुण्डा/बदमाश की सूची खोलने कहने के साथ ही सक्रिय गुण्डा/बदमाशों के विरूद्ध एन.एस.ए. के तहत् कार्यवाही करने कहा गया। संवेदनशील मामलों सहित किसी भी प्रकार की धार्मिक मामलों में नजर रखकर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा उपलब्ध थाना बल से तीन जगहों- नया रायपुर सेक्टर 18, कमल विहार व भाठागांव में पुलिस सहायता केन्द्र बना वहां बढ़ते अपराध को रोकने हेतु बल लगाने को कहा। राज्य शासन को यहां चौकियां खोलने का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। थाना प्रभारियों को स्थान चिन्हांकित करने कहा गया है ताकि उक्त दुरस्थ क्षेत्रों में पुलिस का रिस्पांस टाईम बढ़ाया जा सके तथा किसी प्रकार की घटना होने पर तत्काल रिस्पांस दिया जा सके। लोगों द्वारा यहां काफी समय से पुलिस थाना चौकी की मांग की जा रही है।

व्ही.आई.पी./कानून व्यवस्था ड्यिूटी एवं धरना प्रदर्शन पर बेहतर कार्य कर शांति पूर्ण तरीके से व्ही.आई.पी./कानून व्यवस्था ड्यिूटी एवं धरना प्रदर्शन को संपादित करने के निर्देश दिये गये।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button