देश

बम होने की फैलाई अफवाह, गिरफ्तार हुआ तो बोला- बेरोजगार हूं, जेल में खाना तो मिलेगा

Advertisement

(शशि कोंनहेर) : तमिलनाडु के कोयंबटूर में बम होने की अफवाह फैलाने के आरोप में रविवार को एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। पुलिस की ओर से पूछताछ में इस 34 वर्षीय शख्स ने बताया कि वह बेरोजगार है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने पुलिस को फोन करके इरोड में रेलवे स्टेशन और मुख्य बस अड्डे पर बम होने की फर्जी सूचना दी थी।

Advertisement

अपनी गिरफ्तारी के बाद उस व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि वह गुजारा करने के लिए संघर्ष कर रहा था। इसलिए उसने अधिकारियों को इस योजना के साथ फोन किया कि अपराध के लिए सलाखों के पीछे डालने के बाद उसे हर दिन भोजन तो मिलेगा।

Advertisement

पुलिस के अनुसार, उन्हें कुछ दिन पहले चेन्नई के पुलिस नियंत्रण कक्ष में एक फोन आया। कॉल करने वाले शख्स ने बम होने की सूचना दी। इसके बाद इरोड पुलिस को शहर के मुख्य बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और खरीदारी बाजारों में सुरक्षा उपायों को कड़ा करने के लिए सतर्क कर दिया गया। इरोड पुलिस ने इरोड रेलवे स्टेशन, इरोड नगर निगम बस स्टैंड और बाजार क्षेत्र में पूरी तरह से जांच की। लेकिन, कुछ भी नहीं मिला। इसके बाद पुलिस की ओर से इस कॉल को केवल एक अफवाह बताया गया।

आरोपी ने 2019-2021 में भी किए इसी तरह के कॉल
कॉल रिकॉर्ड की जांच करने पर पुलिस ने पाया कि फोन करने वाला कोयंबटूर जिले के मेट्टुपालयम का रहने वाला संतोष कुमार है। शनिवार रात इरोड पुलिस ने कुमार को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की। पुलिस ने बताया कि कुमार ने 2019 और 2021 में इसी तरह फोन कॉल के जरिए फर्जी सूचना दी थी। उन्होंने बताया कि उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने बताया कि कुमार का बयान दर्ज किए जाने के बाद उसे रविवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जहां से उसे 15 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

कुछ दिनों पहले तेलंगाना के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (आरजीआईए) पर हैदराबाद-चेन्नई इंडिगो की फ्लाइट में बम होने की सूचना अफवाह निकली थी। जानकारी के मुताबिक, हवाई अड्डा अधिकारियों को एक फोन कॉल आया कि हैदराबाद-चेन्नई इंडिगो उड़ान में बम रखा गया है। केंद्रीय ऑद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की खुफिया शाखा ने कॉल की डिटेल का पता लगाया किया और फोन करने वाले को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान अजमीरा भद्रैया के रूप में हुई। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने इसलिए कॉल किया कि फ्लाइट क्रू ने उसके देर से आने के कारण उसे फ्लाइट में चढ़ने से इनकार कर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button