देश

आज से बदल गए कई नियम, ईपीएफओ से लेकर इन सब मे हुए बदलाव..

Advertisement

आज यानी 1 अप्रैल से नए वित्तवर्ष की शुरुआत हो गई है। एक अप्रैल से बहुत सारे नियमों में बदलाव हुए हैं, जो आपकी जेब पर बड़ा प्रभाव डालेंगे। एलपीजी के रेट से लेकर वाहनों के दाम पर भी आज से असर दिखेगा। क्योंकि, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बजट में घोषित अधिकांश नए टैक्स रूल्स भी इसी दिन प्रभावी होते हैं। आइए जानें आज से क्या-क्या बदल रहा है…

Advertisement

ईपीएफओ का नया नियम

Advertisement

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने आपके फंड बैलेंस के लिए ऑटोमेटिक ट्रांसफर सिस्टम लागू किया है। जब आप कोई नई नौकरी शुरू करते हैं तो अब आपको मैन्युअल फंड ट्रांसफर के लिए रिक्वेस्ट नहीं करना पड़ेगा। ईपीएफओ ऑटोमेटिकली आपके पीएफ बैलेंस को आपके नए नियोक्ता के खाते में जमा कर देगा।

न्यू टैक्स रिजीम

1 अप्रैल, 2024 से भारत में नया टैक्स सिस्टम डिफॉल्ट विकल्प बन जाएगी। इसका मतलब यह है कि जब तक आप पुरानी टैक्स रिजीम नहीं चुनते, आपके टैक्स कैल्कुलेशन नए नियमों के तहत ऑटोमेटिक रूप से की जाएगी।

नई प्रणाली के लिए टैक्स ब्रैकेट वित्तीय वर्ष 2024-25 (टैक्स ईयर 2025-26) के लिए समान रहेंगे। हाल के बजट में किसी बदलाव की घोषणा नहीं की गई। अगर आपकी आय सालाना 7 लाख रुपये या उससे कम है, तो आपको नई प्रणाली के तहत कोई आयकर नहीं देना होगा।

एनपीएस: टू फैक्टर ऑथन्टिकेशन

1 अप्रैल, यानी आज से पीएफआरडीए राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के लिए एक अतिरिक्त सुरक्षा उपाय लागू करेगा। इस सिस्टम में पासवर्ड के माध्यम से सीआरए सिस्टम तक पहुंचने के लिए टू फैक्टर आधार आधारित ऑथन्टिकेशन शामिल है।

Advertisement

एक अप्रैल को 2000 का नोट बदलने की सुविधा नहीं

बैंकों में वार्षिक लेखाबंदी से जुड़े कार्यों के कारण 2000 रुपये के बैंक नोट को बदलने या जमा करने की सुविधा एक अप्रैल, 2024 यानी सोमवार को उपलब्ध नहीं होगी। अगले दिन मंगलवार को यह सुविधा केंद्रीय बैंक के 19 क्षेत्रीय कार्यालयों में बहाल हो जाएगी।

टोयोटा के चुनिंदा वाहन हुए महंगे

आज से टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के कुछ चुनिंदा वाहन महंगे हो गए हैं। टीकेएम ने उत्पादन लागत तथा परिचालन खर्च में बढ़ोतरी के कारण एक अप्रैल से अपने चुनिंदा वाहनों की कीमतें एक प्रतिशत तक बढ़ाने की घोषणा की थी। कंपनी ने कहा कि वह एक अप्रैल से अपने विशिष्ट मॉडलों के कुछ ग्रेड की कीमतें बढ़ाने की योजना बना रही है।

ई-वाहनों को सब्सिडी नहीं

इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई फेम-2 योजना को सरकार 31 मार्च से आगे नहीं बढ़ाएगी। भारी उद्योग मंत्रालय ने बुधवार को योजना की अवधि बढ़ाए जाने की खबर का खंडन करते हुए यह जानकारी दी। सरकार ने साफ कर दिया है कि 31 मार्च के बाद ई-वाहनों को सब्सिडी नहीं मिलेगी।

किआ के वाहन एक महंगे

वाहन कंपनी किआ इंडिया के वाहन आज यानी एक अप्रैल, 2024 से तीन प्रतिशत तक महंगे हो गए हैं। कंपनी किआ सेल्टोस, सोनेट और कैरेन्स मॉडल बेचती है। कंपनी ने इस साल पहली बार अपने वाहनों के दाम बढ़ाने का फैसला किया है। कंपनी अबतक भारत और विदेशी बाजारों में 11.6 लाख गाड़ियों की बिक्री कर चुकी है।

छह नियमों को एक एकीकृत ढांचे में मिलाया गया

भारतीय बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने विभिन्न नियमों को अधिसूचित किया है। इसमें बीमा पॉलिसी वापस या सरेंडर करने से जुड़ा शुल्क भी शामिल है। इसमें बीमा कंपनियों को ऐसे शुल्कों का खुलासा पहले ही करना होता है। इरडा का कहना है कि यदि कोई पॉलिसी को अधिक अवधि के लिए रखता है, तो सरेंडर मूल्य अधिक होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button