छत्तीसगढ़

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र और लोकतंत्र की मां है…. इसके बाद भी विदेश में जाकर भारत के लोकतंत्र पर सवाल उठा रहे

Advertisement

(शशि कोंनहेर) : राहुल गांधी की कैम्ब्रिज स्पीच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पलटवार किया है। कर्नाटक में एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लंदन में भारत के लोकतंत्र पर सवाल उठाए गए। पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत की लोकतांत्रिक परंपराओं को दुनिया की कोई ताकत नुकसान नहीं पहुंचा सकती, लेकिन कुछ लोग उसे कठघरे में खड़ा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत के लोकतंत्र पर लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

Advertisement

ऐसे किया लंदन का जिक्र
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र ही नहीं, भारत लोकतंत्र की मां भी है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने लंदन का एक किस्सा भी सुनाया। उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्य रहा कि मुझे कुछ वर्ष पूर्व लंदन में भगवान बश्वेश्वर की प्रतिमा के लोकार्पण का अवसर मिला। पीएम ने कहा कि लंदन की धरती पर भगवान बश्वेश्वर की मूर्ति होना अपने आप में बड़ी बात है। लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लंदन की धरती पर ही भारत के लोकतंत्र पर सवाल उठाने का काम किया गया।

Advertisement

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के लोकतंत्र की जड़ें हमारे सदियों के इतिहास से सींची गई हैं। दुनिया की कोई ताकत भारत की लोकतंत्र की परंपराओं को नुकसान नहीं पहुंचा सकती। बावजूद इसके कुछ लोग लगातार भारत के लोकतंत्र को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं। ऐसे लोग भारत की महान परंपरा का, भारत के 130 करोड़ जागरुक नागरिकों का अपमान कर रहे हैं। ऐसे लोगों से अब कर्नाटका के लोगों को भी सतर्क रहना है।

भारत की प्रगति की चर्चा
हुबली-धारवाड़ में लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आईआईटी धारवाड़ भविष्य के संस्थान के रूप में तैयार है। पिछले नौ वर्ष में बेहतर शिक्षण संस्थानों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने आगे कहा कि भारत 21वीं सदी में अपने शहरों का आधुनिकीकरण कर प्रगति कर रहा है। आज, भारत दुनिया की सबसे मजबूत डिजिटल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button