बिलासपुर

कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए लागू किए गए, नाइट कर्फ्यू की औकात है उतनी ही है.. जितनी गोलीबारी से बचने के लिए मिथुन चक्रवर्ती के साइकिल की..!

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – कोरोनावायरस की तीसरी लहर के खिलाफ छत्तीसगढ़ समेत देश की सरकारों द्वारा नाइट कर्फ्यू को किस तरह लागू किया जा रहा है उसे लेकर मिथुन चक्रवर्ती के एक फिल्म की सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। इस तस्वीर में दुश्मनों की गोलीबारी से बचने के लिए फिल्म कलाकार मिथुन चक्रवर्ती को,एक साईकिल की आड़ लेकर गोलीबारी से अपनी जान बचाने की कोशिश करते दिखाया गया है। इसका मतलब यह है कि जिस तरह गोलीबारी से बचने के लिए साइकिल की आड़ लेने का कोई मतलब नहीं होता। इसी तरह कोई भी अपनी जान नहीं बचा सकता। ठीक वही हाल, कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लागू किए जा रहे नाइट कर्फ्यू का भी जान पड़ता है। छत्तीसगढ़ समेत देश के विभिन्न राज्यों की प्रदेश सरकारों के द्वारा नाइट कर्फ्यू लागू किये जाने को कोविड-19 कासंक्रमण रोकने के लिए अपर्याप्त, लचर और कमजोर कदम माना जा रहा है। इसके आलोजकों का कहना है कि क्या कोरोनावायरस के विषाणु केवल रात को ही विचरण किया(घूमा) करते हैं और दिन को वे अपनी सुरक्षित गुफा में जाकर छुप जाते हैं..?
दरअसल “मेन टू मेन डिस्टेंस” अर्थात सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने के अलावा केवल कंप्लीट वैक्सीनेशन अर्थात टीकाकरण से ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सकता है। यह बात समझ से परे है कि ठंड के दिनों में जब अधिकांश लोग रात को 9-10 बजे के पहले ही अपने घरों में जा घुसते हैं। ऐसे में रात को 10 बजे से सुबह 6 बजे तक के लिए नाईट कर्फ्यू लगाकर शासन किसे रोकने का प्रयास कर रहा है। छत्तीसगढ़ में जिस तेजी से कोविड-19 का संक्रमण फैल रहा है। उसे देखते हुए सरकार को भीड़भाड़ वाले तमाम स्थानों अर्थात बाजारों और सार्वजनिक स्थलों पर लोगों के जमावड़े को रोकना चाहिए। वहीं मास्क पहनने पर हर व्यक्ति को मजबूर करना चाहिए। किसी भी व्यक्ति को मास्क के बिना ना तो पेट्रोल मिले और ना ही बाजार से किसी भी प्रकार का कोई सामान ही मिल पाए। वहीं बिना मास्क वाले ग्राहक को सामान देने वाले दुकानदार के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। ऐसा करने से ही कोविड-19 के संक्रमण को एक हद तक रोकने में कामयाबी पाई जा सकती है। अन्यथा यही माना जाएगा कि इस संक्रमण के खिलाफ नाईट कर्फ्यू जैसे कमजोर हथियार का उपयोग कर जनता को भगवान के भरोसे ही छोड़ा जा रहा है।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button