देश

हाईकोर्ट ने जारी किया आदेश, ज्ञानवापी का ‘शिवलिंग’ कितना पुराना, ASI करेगा सर्वे

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : वाराणसी के विवादित ज्ञानवापी परिसर में मिले  शिवलिंग के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला आया है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शिवलिंग का साइंटिफिक सर्वे किए जाने का आदेश जारी किया है. आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) को  ज्ञानवापी परिसर में मिले कथित शिवलिंग का साइंटिफिक सर्वे करना होगा.

Advertisement

कोर्ट ने साफ आदेश दिया है कि एसआई को कथित शिवलिंग को नुकसान पहुंचाए बिना साइंटिफिक सर्वे करना होगा. साइंटिफिक सर्वे के जरिए यह पता लगाना होगा कि कथित शिवलिंग कितना पुराना है. यह वास्तव में शिवलिंग है या कुछ और

Advertisement

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने वाराणसी के जिला जज के फैसले को बदला है. जस्टिस अरविंद कुमार मिश्र की सिंगल बेंच में इस मामले की सुनवाई हुई है. कथित शिवलिंग का साइंटिफिक सर्वे कार्बन डेटिंग के जरिए कराए जाने की मांग को लेकर दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट का फैसला आया है. इस मामले में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने कल ही सील बंद लिफाफे में अपनी रिपोर्ट पेश की थी.

हिंदू पक्ष की महिलाओं की तरफ से दाखिल की गई याचिका में वाराणसी के जिला जज के आदेश को चुनौती दी गई थी. पिछले साल मई महीने में कोर्ट कमीशन की कार्यवाही के दौरान मस्जिद के वजूखाने से कथित शिवलिंग बरामद हुआ था.

ज्ञानवापी से जुड़े 7 मामले को एक अदालत में चलाने के मामले पर हुई सुनवाई, यह सुनवाई जिला जज की अदालत में हुई. इस मामले में मुस्लिम पक्ष की तरफ से आपत्ति की गई. आपत्ति में सभी मुकदमों को अलग-अलग ही सुनने की बात कही गई.

वहीं हिंदू पक्ष की तरफ से राखी सिंह और अविमुक्तेश्वरानंद की तरफ से भी आपत्ति की गई, इस आपत्ति में सभी मुकदमों को अलग-अलग सुनने की बात कही. कोर्ट ने सभी पक्षों को सुनने के बाद अगली तारीख दी है, कोर्ट ने अगली तारीख 19 मई की रखी है.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button