play-sharp-fill
देश

उसने पत्र लिखकर मांगी कांग्रेस कार्यालय में नमाज अदा करने और बकरे की कुर्बानी की अनुमति

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : असदुद्दीन औवेसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के एक नेता ने दिग्विजय सिंह को चिट्ठी लिखकर बकरीद पर भोपाल में स्थित मध्य प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में ईद की नमाज पढ़ने और बकरे की कुर्बानी देने की अनुमति मांगने की मीडिया में जमकर चर्चा हो रही है। बकरीद के नाम से मशहूर ईद-उल-अजहा का त्योहार आज गुरुवार को मनाया जा रहा है।

Advertisement

एआईएमआईएम की मध्य प्रदेश इकाई के सचिव पीरजादा तौकीर निजामी ने इस संबंध में कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह को पत्र लिखकर कहा है कि वाकई में आप सेक्युलर हो और राहुल गांधी की बात मानते हों तो पीसीसी जो आपकी मोहब्बत की दुकान है उस पर मुस्लिम समाज के इस त्यौहार पर कुर्बानी करने और विशेष नमाज अदा करने की इजाजत दें।

Advertisement

पीरजादा तौकीर निजामी ने कहा, “कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपनी पार्टी को ‘मोहब्बत की दुकान’ कहते हैं। मैंने खुद को धर्मनिरपेक्ष कहने वाले दिग्विजय सिंह से मध्य प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बकरीद मनाने की अनुमति देने का अनुरोध किया है।

निजामी द्वारा कांग्रेस के मध्य प्रदेश मुख्यालय में बकरे की कुर्बानी देने (बकरीद या ईद उल अजहा मनाने) की मंजूरी मांगने की बात पर राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह पर ”छद्म धर्मनिरपेक्ष” होने का आरोप लगाया। नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार शाम इंदौर में संवाददाताओं से कहा, ”दिग्विजय सिंह के साथ यह तो होना ही था। वह छद्म धर्मनिरपेक्षता का चोला ओढ़कर हिंदुओं और हिंदुत्व को जिंदगी भर नकारते रहे। अब वह एआईएमआईएम नेता के पत्र का जवाब दें।”

उन्होंने यह तंज भी कसते हुए कहा कि ”न खुदा ही मिला, न विसाल-ए सनम, न इधर के रहे, न उधर के हम” की कहावत दिग्विजय सिंह पर एकदम सटीक बैठती है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button