छत्तीसगढ़

जंप उपाध्यक्ष सिंह देव के आतिथ्य में  मनाई गई हरेली तिहार

Advertisement

(मुंन्ना पाण्डेय) : लखनपुर+(सरगुजा) :सरगुजा  संस्कृति की पहचान है हरेली तिहार। सब त्योहारो में यह त्यौहार पहले होने कारण  अपनी खास अहमियत रखता है।
कृषक वर्ग के लोग इस त्यौहार को उत्साह के साथ मनाते हैं। हरेली त्योहार का मतलब प्रकृति के ख़ूबसूरत हरियाली से है।
कृषक वर्ग इस प्राचीन लोक त्यौहार को दिल के गहराई से मनाता है ।

Advertisement

इसी कड़ी में  बीते 17 जुलाई दिन सोमवार को जंप क्षेत्र के  आदर्श गौठान ग्राम पंचायत पुहपुटरा में  जंप उपाध्यक्ष अमीत सिंह देव के आतिथ्य में हरेली तिहार मनाया गया। इस मौके पर जंप उपाध्यक्ष  सिंह देव ने पंडित पुजारी के मुखारविंद से उच्चरित वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गाय बैलों का पूजा अर्चना किया।

Advertisement

साथ ही उपस्थित ग्रामीणों को हरेली तिहार  के  महत्ता के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह त्योहार सावन महिने के कृष्ण पक्ष अमावस्या तिथि को मनाया जाता है इस दिन किसान अपने कृषि औजारो फावड़ा, गैंती, हंसिया नागर (हल)  रघरी कोपर तथा गाय बैलों की पूजा अर्चना करते हैं   खेती कार्य का शुभारंभ किया जाता है हरेली त्योहार की यही रवायत रही है।

हिन्दू समाज में इस त्यौहार को पहला   त्योहार  माना जाता है।  प्रदेश कांग्रेस सरकार द्वारा संचालित  गोधन न्याय योजना नरवा गरूवा  घुरूवा और बारी जैसे  महत्वाकांक्षी योजनाओं तथा उनके  उपलब्धियों को तफ्सील से बताया। दरअसल शासन स्तर से इस त्यौहार को  विशेष मान्यता प्राप्त है। इस दिन युवा मितान क्लब के ओर से खेल कूद जैसे कार्यक्रम आयोजित हुये।  सभी ग्राम पंचायतों में हरेली तिहार मनाया गया।


पुहपुटरा गौठान में हरेली त्योहार मनाये जाने के दौरान राम सुजान,मकसूद हुसैन  जंप मुख्य कार्यपालन अधिकारी वेद प्रकाश पांडेय, पंडित पुजारी सुरेश शुक्ला सहित गौठान के अध्यक्ष सचिव  महिला स्वयं सहायता समूह के सदस्यगण ग्राम वासी काफी संख्या में उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button