छत्तीसगढ़

आदिवासी बेटी के साथ दुराचार के आरोपी के पिता नारायण चंदेल के साथ एक मंच पर मौजूदगी को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर भड़की कांग्रेस..कहा..मंच शेयर कर पीड़िता के जख्मों में नमक छिड़का

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : रायपुर :  प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि दुर्भाग्य की बात है भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आदिवासी बेटी के साथ दुराचार के आरोपी के पिता नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के साथ मंच शेयर कर उस पीड़ित बेटी के जख्मों पर नमक छिडका है। जेपी नड्डा के मुंह से आदिवासियों की हित की बात दिखावटी और बनावटी थी।

Advertisement

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को अपने इस कृत्य के लिए प्रदेश के आदिवासी समाज से माफी मांगनी चाहिए और तत्काल नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल को पद से हटा देना चाहिए।

Advertisement

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा का चरित्र ही है बलात्कारियों को अपराधियों को संरक्षण देना। भाजपा कभी पीड़ित के साथ खड़ी नहीं होती है पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए आवाज नहीं उठाती है।

बल्कि ऐसे सार्वजनिक मंचों के माध्यम से अपराधियों से संबंध रखने वालों को साथ बिठाकर पीड़ित पक्ष को डराने और धमकाने का षड्यंत्र करती है भानूप्रतापपुर के उपचुनाव में भी भाजपा ने एक आदिवासी बेटी के साथ गैंगरेप और उसे देहव्यापार में धकेलने के आरोपी को प्रत्याशी बनाया था जिसकी करारी हार हुई।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश का आदिवासी समाज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के इस कृत्य को देखकर आक्रोशित है की आदिवासी बेटियों के साथ दुराचार करने वालों को भाजपा हमेशा प्रोत्साहन क्यों देती है? सम्मान क्यों देती है? आदिवासी बेटी के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी को पुलिस ढूंढ रही है और भाजपा के नेता उस आरोपी को बचाने के लिए लगे हुए हैं।

भाजपा बताएं कि आखिर आदिवासी बेटी के साथ दुराचार के आरोपी के पिता नारायण चंदेल को अब तक पद मुक्त क्यों नहीं किया है? पूर्व के रमन सरकार के दौरान भी आदिवासी बेटियों के साथ दुराचार की घटनाएं हो रही थी झलियामारी आदिवासी बालिका आश्रम में हुई रेप की घटना, मीना खलखो, पेद्दागूलुर, सारखेगुड़ा की रेप की घटना प्रदेश भुला नही है। रमन सिंह के मुख्यमंत्री रहते उनके निजी सचिव ओपी गुप्ता पर रेप के आरोप लगे तो रमन सरकार ने 4साल तक एफआईआर होने नही दिया था। भाजपा आज भी आदिवासियों के विरोधी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button