देश

केदारनाथ धाम में 8000 श्रद्धालुओं के रुकने का हुआ इंतजाम….

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : रुद्रप्रयाग – केदारनाथ धाम में प्रशासन तैयारियों में जुटा हुआ है। धाम में बिजली-पानी की आपूर्ति सुचारु कर ली गई है। साफ-सफाई के साथ ही मंदिर के पास रेलिंग लगाने का काम जारी है।

Advertisement

छह मई को खोले जाएंगे धाम के कपाट

Advertisement

रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि 30 अप्रैल तक श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएंगी। उन्होंने बताया कि धाम में आठ हजार यात्री रात्रि विश्राम कर सकेंगे। धाम के कपाट छह मई को खोले जाएंगे।

यात्रा व्यवस्था को अंतिम रूप देने में जुटी समिति

केदारनाथ में शीतकाल के दौरान भारी बर्फबारी के चलते बंद पुनिर्निमाण कार्य फिर शुरू कर दिए गए हैं। इसके साथ ही प्रशासन और बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति यात्रा व्यवस्था को अंतिम रूप देने में जुटी हैं।

इन दिनों द्वितीय चरण के पुनर्निर्माण कार्यों के तहत धाम में तीर्थ पुरोहितों के घरों समेत विभिन्न कार्य चल रहे हैं।

पैदल मार्ग से बर्फ पूरी तरह हो चुकी साफ

जिलाधिकारी ने बताया कि यात्रा व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है। गौरीकुंड से केदारनाथ जाने वाले 16 किलोमीटर लंबे पैदल मार्ग से बर्फ पूरी तरह साफ हो चुकी है।

Advertisement

बिजली-पानी के साथ ही संचार सेवा भी बहाल

इस मार्ग पर घोड़े-खच्चरों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। धाम में बिजली-पानी के साथ ही संचार सेवा भी बहाल हो गई है। डीएम ने बताया कि गढ़वाल मंडल विकास निगम को यात्रियों के ठहरने के लिए सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं।

रेलिंग लगाने का कार्य शुरू

दूसरी ओर बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के 22 सदस्यीय दल ने मंदिर परिसर में सफाई का काम शुरू करने के साथ ही वहां रेलिंग लगाने का कार्य भी शुरू कर दिया है।

मंदिर के पूजा काउंटर और टेंट कालोनी की मरम्मत भी की जा रही है। मंदिर में पूजा की तमाम व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button