छत्तीसगढ़

और इस तरह शराब प्रेमियों को आबकारी विभाग ने जमकर “अप्रैल फूल” बनाया

Advertisement

बिलासपुर। वैसे भी शराब प्रेमियों को इस बात का हमेशा दर्द रहता है कि उनकी समस्या को सुनने वाला कोई नहीं रहता। एक बार गरीब, पिछड़े,दलित और अमीर वर्ग तक की समस्याएं लोग उठाते हैं। लेकिन मद्यप्रेमियों की समस्याओं को उठाने वाला कोई भी नहीं रहता। वह भी तब, जब शराब से प्रेम करने वाले लोग, गरीब पिछड़े दलित और अमीर हर वर्ग में बहुत बड़ी तादाद में पाए जाने लगे हैं।

Advertisement

आज एक बार फिर सरकार ने आबकारी विभाग के साथ सांठगांठ कर शराब प्रेमियों के साथ जमकर खेला किया। विभाग ने उन्हें वित्तीय वर्ष के पहले दिन 1 अप्रैल कोअप्रैल फूल बना दिया। नए वित्तीय वर्ष के पहले दिन (मूर्ख दिवस+ अप्रैल फूल के नाम से प्रसिद्ध) 1 अप्रैल को बिलासपुर के सभी मध्य प्रेमी जमकर अप्रैल फूल बनाए गए। आज बिलासपुर जिले की सभी शराब भट्ठिय़ो से शराब के सभी ब्रांड गायब कर दिए गए।

Advertisement

और केवल “गोवा का पव्वा” और इसी तरह “देसी सफेद का पव्वा” खरीदने पर शराब प्रेमियों को मजबूर कर दिया गया। शराब खरीदने के लिए जाने वालों को शराब की दुकानों से साफ कहा गया कि.. केवल “गोवा” और सफेदा “देसी” का पव्वा मात्र है। अगर लेना है तो लीजिए वरना जाकर भांग-गांजा पीकर घर में आराम से सो जाइए। आबकारी विभाग के द्वारा एकाएक गोवा और सफेदा बेचने के लिए जारी किए गए इस फतवे से शराब के प्रेमी पूरे दिन हलाकान होते रहे।

उन्हें दूसरे किसी भी ब्रांड की शराब…क्वार्टर, अध्धी अथवा बोतल में उपलब्ध नहीं हो पाई। शराब की दुकानों (भट्ठिय़ो) मैं बैठे सरकारी गद्दीदार और पहलवान, शराब खरीदने के लिए आने वालों को साफ-साफ 2 टका जवाब देते रहे। अगर खरीदना है तो गोवा ब्रांड और देसी सफेदा का पव्वा ही मिलेगा। इसका कारण पूछने पर शराब की दुकानों से बताया गया कि आज सर्वर डाउन होने के कारण दूसरे ब्रांड की शराब उपलब्ध नहीं हो पाएगी ।

बहरहाल जिन लोगों ने हमें (शराब प्रेमियों को हो रही परेशानी की) यह खबर दी है। उन्हें यह बात समझ में नहीं आ रही है कि सरवर डाउन होने का और शराब की भट्ठिय़ो से गोवा और देसी सफेदा छोड़कर बाकी तमाम शराब के ब्रांड गायब होने का परस्पर क्या संबंध है…?

अच्छा होता सरकार के नुमाइंदे और आबकारी विभाग शराब प्रेमियों को इस बारे में कोई जानकारी दे देते। अथवा यही कह देते कि आज 1 तारीख अर्थात 1 अप्रैल है.. इसीलिए आबकारी विभाग तथा शासन ने आपको अप्रैल फूल बनाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button