play-sharp-fill
देश

बदरीनाथ-केदारनाथ, गंगोत्री समेत चारों धामों के बाद हेमकुंड साहिब के 20 मई को खुलेंगे कपाट, इस दिन रवाना होगा पहला जत्था

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : उत्तराखंड चार धाम यात्रा 2023 22 अप्रैल को गंगोत्री-यमुनोत्री धामों के कपाट खुलने के साथ शुरू हो चुकी है। बदरीनाथ-केदारनाथ समेत चारों धामों में यूपी, दिल्ली-एनसीआर, राजस्थान, एमपी सहित देश के कई राज्यों से तीर्थ यात्री दर्शन करने को आ रहे हैं। चारों धामों के बाद अब श्री हेमकुंड साहिब के कपाट खोलने की तैयारियां पूरी जोरों पर हैं।

Advertisement

हेमकुंड साहिब के कपाट 20 मई को श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। साहित के कपाट खोलने से पूर्व सेना के जवान बर्फ काटकर रास्ता बना रहे हैं। साहिब के चारों ओर बर्फ की चादर दिख रही है। श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने आश्वस्त किया कि यात्रा की सभी तैयारियां कर ली गई हैं।

Advertisement

सुगम यात्रा को पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। ट्रस्ट ने इसके लिए सरकार का आभार जताया। सीएम से मुलाकात के दौरान अध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने सीएम से श्री हेमकुंड साहिब यात्रा के पहले जत्थे को रवाना करने का अनुरोध किया। यात्रा का पहला जत्था 17 मई को ऋषिकेश से रवाना होगा।

हेमकुंड साहिब के कपाट 20 मई को खुलेंगे। विकास कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि गोविंद घाट से पांच किमी तक का पुलना सड़क मार्ग तैयार किया गया है। जिला प्रशासन ने गोविन्द घाट में एक अस्थायी पार्किंग का निर्माण भी इस वर्ष किया है। गोविंद घाट गुरुद्वारा हॉस्पिटल में भी एक एक्स-रे मशीन और मोबाइल पैथोलॉजी लैब सरकार ने लगाई है।

गोविंद घाट बस स्टैंड से गुरुद्वारा जाने को मौजूद पुराने मार्ग के सुधारीकरण का काम भी तेजी से चल रहा है। बताया कि साहिब के कपाट खुलने से पहले सारे निर्माण कार्य पूरे कर लिए जाएंगे। सीएम ने सुखद यात्रा की शुभकामनाएं दीं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button