पंचायत चुनाव: सात जपं में छह पर कांग्रेस का सफाया

12

जिला पंचायतों में जोड़तोड़, जनपदों से जनाधार खिसका

बिलासपुर। जले की सात जनपद पंचायतों में छह पर भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला है। केवल एक पेंड्रा जनपद को छोड़ दें, तो बाकी में भाजपा, सरकार बनाने की स्थिति में है। लिहाजा भाजपा ने समर्थित जनपद सदस्यों को अंडरग्राउंड करना शुरू कर दिया गया है। इधर जिला पंचायतों में जोड़तोड़ के जलते जनपदों से जनाधार खिसकने पर कांग्रेस संगठन के होश उड़ गए हैं। जिले में सात जनपद पंचायत हैं। इसमें बिल्हा, मस्तूरी, कोटा, तखतपुर जैसे जनपदों में भाजपा स्पष्ट बहुमत में है। अगर भीतरघात नहीं हुआ तो यहां उनका अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनना तय है। इधर तीनों आदिवासी विकासखंडों में भी भाजपा सरकार बनाने की स्थिति में है। यहां कुल 16 में से आठ भाजपा समर्थित प्रत्याशी चुनकर आए हैं। 6 में कांग्रेस, 1 आप व 1 जनता कांग्रेस के प्रत्याशी ने जीत हासिल की है। भाजपा को पूरी उम्मीद है कि दो सदस्यों में से किसी एक का समर्थन उन्हें जरूर मिल जाएगा।
मरवाही का आंकड़ा
मरवाही की 22 सीट में से 8 में भाजपा, 6 सीट कांग्रेस के पास है। शेष आठ सीट अन्य के खाते में है। भाजपा को दिक्कत केवल पेंड्रा जनपद में हो रही है। यहां कांग्रेस को सर्वाधिक छह सीट मिली है। भाजपा के खाते में तीन सीटें आई हैं। शेष तीन अन्य के पाले में हैं। इस तरह अन्य का भी साथ मिला तो मामला बराबरी में आ जाएगा। फिर भी उम्मीद बहुत कम जताई जा रही है। जनपद पंचायतों में अपनी सरकार बनने की पूरी संभावना को देखते हुए पार्टी अब सतर्क हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here